Home / राजस्थान / करौली / अंतरा इंजेक्शन की जानकारी

अंतरा इंजेक्शन की जानकारी

बच्चों में अंतराल का आसान साधन अंतरा – सीएमएचओ 

करौली। दो बच्चों में अंतर के लिए रोज-रोज गर्भनिरोधक उपयोग के बजाय 3 माह में एक बार अंतरा इंजेक्शन योग्य दम्पतियों की पसंद बन रहा है। परिवार कल्याण कार्यक्रम में क्रन्तिकारी साबित हुए अंतरा डी.एम.पी.ए. इंजेक्शन की सेवाएं अब जिला अस्पताल, सभी सीएचसी, शहरी पीएचसी व डिस्पेंसरियों में उपलब्ध हैं। सीएमएचओ दिनेश चंद मीणा ने बताया कि अंतरा इंजेक्शन 18 वर्ष से लेकर 45 की उम्र तक किसी भी महिला को डॉक्टर द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण कर शुरू किया जा सकता है। बाद की डोज नर्सिंग स्टाफ या आयुष चिकित्सक द्वारा भी दी जा सकती है।

उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (प.क.) डॉ. सतीश चंद मीना ने बताया कि अंतरा लगवाने वाली महिलाओं को नियमित फोलो अप के साथ 3 माह के अंतराल से बुलाकर अगली डोज के लिए प्रेरित करना है। उन्होनें बताया कि इसके लिए विशेष ऑनलाइन सॉफ्टवेयर भी संचालित है, जिसके माध्यम से हर 3 माह से लाभार्थी तो रिमाइंडर मिल जाता है। 

क्यों है अंतरा आसान साधन

सीएमएचओ ने बताया कि एक इंजेक्शन और 3 माह की छुट्टी यानिकी रोज-रोज गर्भनिरोधक साधन की जरुरत नहीं होने से अंतरा काफी आसान अंतराल साधन माना जाता है। इन्जेक्टेबल कॉन्ट्रासेप्टिव (अंतरा) का उपयोग उच्च प्रजनन दर को कम करने में महत्वपूूर्ण साधन है एवं योग्य दम्पत्तियों को समय पर परामर्श देकर तथा यथा समय फॉलोअप पर विशेष ध्यान देकर परिवार को सुखी बनाने का सफल प्रयास है। उन्होंने बताया कि इस इन्जेक्शन के उपयोग के बाद महिला को आलोच्य अवधि तक गर्भधारण रोकथाम के लिए अन्य किसी साधन का उपयोग करने की आवश्यकता नहीं रहती।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

बाजारों में भीड़, कैसे हारेगा कोरोना

देवउठनी एकादशी के कारण इस समय बाजारों में जबरदस्त भीड़ उमड़ रही है। लोग बाजारों …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *