Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / अनूठे ढंग से खेला गया दड़ा महोत्सव – शाहंपुरा
अनूठे ढंग से खेला गया दड़ा महोत्सव - शाहंपुरा
अनूठे ढंग से खेला गया दड़ा महोत्सव - शाहंपुरा

अनूठे ढंग से खेला गया दड़ा महोत्सव – शाहंपुरा

इस साल शाहपुरा क्षेत्र में जमाना मध्यम रहेगा। अकाल की संभावनाएं नहीं रही है। सुकाल की संभावनाएं प्रबल हो गई है। यह निष्कर्ष शाहपुरा के ऐतिहासिक धनोप ग्राम में मकर संक्राति के अवसर पर मंगलवार को खेले गए दड़ा महोत्सव से सामने आया है।
घोषणा के बाद लोगों ने एक दूसरे को बधाई दी। हजारों की तादाद में गांव के बुर्जुगों के साथ ठा. सत्येंद्र सिंह राणावत ने पटेलों की सहमति के बाद में सर्वसम्मति से इस संबंध में घोषणा की। इस निर्णय पर ग्रामीणों ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए एक दूसरे को बधाईयां दी। रियासत काल में राजाधिराज सरदारसिंह के समय से धनोप ग्राम में हो रहे दड़े के खेल के आशानुकुल ही परिणाम रहते आए है।
आज अपरान्ह में 2.05 बजे धनोप के गढ़ में नंगाड़ा बजा। दुसरी बार नंगाड़ा बजने पर खेल खेलने वाले दोनों दल तैयार हो गए तथा तीसरी बार डंका बजने पर दड़ा का खेल शुरू हुआ।
लगभग चार हजार से ज्यादा ग्रामीणों ने दो दलों में विभक्त होकर खतरनाक ढंग से दड़े को अपनी ओर खिंचने का प्रयास शुरू किया। एक घंटे के शुरूआती खेल में दड़ा कभी बालाजी की तरफ तो कभी गढ़ के पास तो कभी कल्याणधणी मंदिर के पास तथा हवाला के रास्ते पर ही घूमता रहा। दो बार दड़ा बालाजी की तरफ व दो बार हवाला की तरफ गया। गढ़ चैक से हवाला की ओर मुड़ा तथा बाद में अंतिम पड़ाव के रूप में गढ़ में जा पहुंचा और वहां पर खेल समाप्त करने की घोषणा कर दी गई। गढ़ में दड़े के पहुंचते ही लोगों के चेहरे चमक उठे।
बाद में ठा. सत्येंद्र सिंह राणावत व पंच पटेलों की उपस्थिति में हुए निष्कर्ष आया कि दड़े के गढ़ पहुंचने से अगले साल सुकाल यानि मध्यम जमाना होने के हालात बनेंगे।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *