Home / उत्तर प्रदेश / अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस सप्ताह के अवसर पर कार्यशाला में लोगों को किया गया जागरूक-श्रावस्ती

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस सप्ताह के अवसर पर कार्यशाला में लोगों को किया गया जागरूक-श्रावस्ती

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस सप्ताह के अवसर पर कार्यशाला में लोगों को किया गया जागरूक

श्रावस्ती 14 मार्च, 2020/दिनांक 08 मार्च से 15 मार्च, 2020 तक अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस सप्ताह मनाये जाने हेतु भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार द्वारा कार्यशाला कराये जाने का निर्णय लिया गया है। उक्त के क्रम में जिलाधिकारी यशु रूस्तगी के निर्देशानुसार आज दिनांक 14 मार्च, 2020 को विकासखण्ड जमुनहा में उप जिलाधिकारी जमुनहा आर0पी0 चैधरी की अध्यक्षता में कार्यशाला का आयोजन कराया गया।

       इस अवसर पर उप जिलाधिकारी जमुनहा ने अपने सम्बोधन में कहा कि महिलाएं आज के दौर में हर क्षेेत्र में अपनी उपयोगिता साबित कर रही हैं। अब महिलाएं किसी की दया पर निर्भर नहीं हैं। शिक्षित समाज से ही बेहतर समाज का विकास होता है। समाज की चहुॅमुखी विकास में शिक्षा की बहुत बडी भूमिका है जिले में शिक्षा की साक्षरता दर अन्य जनपदों से कम है जो चिन्ता का विषय है इसके अलावा यहा पर लोग जागरूकता के अभाव में अपने बेटे एवं बेटियों का बाल विवाह भी कर देते है यह भी एक चिन्ता का विषय है इसलिए ग्राम प्रधानों का दायित्व बनता है कि वे गांव के मुखिया होने के कारण उन्हे भी संकल्प लेना होगा कि हम अपने बेटों के साथ बेटियों को भी बिना भेद भाव के शिक्षित करने के साथ साथ यह भी ध्यान देना होगा कि हम अपने बेटियों का बाल विवाह करकें उनके पढ़ाई का हक छीनेगें और न ही अपने गाॅव, पास पड़ोस में बाल विवाह नही होने देगें। उन्होने कहा कि जिले में मातृ एवं शिशु मृत्यु दर भी अधिक है जो भी समाज के लिए बहुत ही चिन्ता का विषय है इसका भी मुख्य कारण बाल विवाह है। कम उम्र में मां बनने से लड़कियों के सेहत पर बुरा असर पड़ता है। उनके शरीर में बहुत से पोषक तत्वों की कमी हो जाती है तथा बच्चे कुपोषण का शिकार हो जाते हैं। और मातृ मृत्यु दर की संभावना बहुत अधिक होती है। देश में विवाह के लिए लड़की की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और लड़के की आयु 21 वर्ष होनी चाहिए।

      इस अवसर पर प्रभारी चिकित्साधिकारी डा0 एस0बी0 सिंह ने उपस्थित जन समुदाय को टीकाकरण, नसबन्दी, संस्थागत प्रसव आदि के बारे में विस्तृत जानकारी देने के साथ ही कोरोना वायरस से बचाव के बारे में भी जागरूक किया। उन्होने कहा कि कोरोना वायरस से न घबराएं, खुद बचें और सबको बचांए। बचाव हेतु बताया कि खांसने और छींकने पर मुंह और नाक को रूमाल या टिश्यू से ढंके, कई बार साबुन और पानी से हाथं धोएं, जिन व्यक्तियों को खाॅसी, सांस लेने में परेशानी या बुखार हो उनके निकट संपर्क से बचे और दूरी बनाएं तथा अपनी आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें। इसके साथ ही उपस्थित लोगों से अपील किया कि यदि आपके आस पास ऐसा व्यक्ति संज्ञान में आए जो विदेश यात्रा में रहा हो उसकी जानकारी प्रशासन को तत्काल दें।

           इस अवसर पर सी0डी0पी0ओ0 महेन्द्र कुमार वर्मा ने पोषण अभियान के तहत उपस्थित जन समुदाय को जागरूक किया। उन्होने बच्चो ( 0-6 वर्ष ) मे ठिगनेपन को कम करना, कुपोषण के कारण वजन की कमी की समस्या मे कमी लाना, छोटे बच्चो ( 5 से 59 महीने ) मे रक्ताल्पता/रक्त की कमी की समस्या मे कमी लाना, 15-49 आयु वर्ग की किशोरियों एवम महिलाओ मे रक्ताल्पता/रक्त की कमी की समस्या मे कमी लाना तथा नवजात शिशु के जन्म के समय वजन मे कमी की समस्या मे कमी लाना आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

        इस अवसर पर महिला कल्याण अधिकारी सरिता मिश्रा ने अपने सम्बोधन में कहा कि हर क्षेत्र में महिलाएं अपना परचम लहरा रही हैं। उन्होंने आहवान किया कि सरकार की महत्वाकांक्षी योजना बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के तहत अभी और अधिक कार्य करने की जरूरत है। लोगों को जागरूक करने के साथ ही यह बताने की आवश्यकता है कि बेटियां, बेटों से किसी भी मामले में कम नहीं हैं। बेटियों को जन्म से पहले मारने से बचाना है क्योंकि जब बेटियां नहीं होगीं तो समाज की परिकल्पना ही सम्भव नहीं हैं।

           इस अवसर पर ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि दिनेश कुमार, यूनिसेफ से अनुराग सिंह, जिला समन्वयक कुसुम श्रीवास्तव, सुपरवाइजर जैबुनिशा सहित भारी संख्या में महिलाएं उपस्थित रही।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

नाबालिग ने सोशल मीडिया पर योगी आदित्यनाथ की आपत्तिजनक तस्वीर की पोस्ट, मामला दर्ज

बलिया, 14 अक्टूबर । सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आपत्तिजनक तस्वीर डालने एवं …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *