Home / देश / आईपीओ बाजार 2014 के स्तर पर, इस साल पहले 6 महीनों में आया महज एक आईपीओ
आईपीओ बाजार
आईपीओ बाजार

आईपीओ बाजार 2014 के स्तर पर, इस साल पहले 6 महीनों में आया महज एक आईपीओ

आईपीओ बाजार 2014 के स्तर पर, इस साल पहले 6 महीनों में आया महज एक आईपीओ

कोरोना वायरस की चपेट में अर्थव्यवस्था के आने से लॉकडाउन (Lockdown) क्या हुआ, इसका असर शेयर बाजार के साथ साथ आईपीओ बाजार पर भी दिख रहा है। तभी तो वर्ष 2020 के शुरुआती 6 महीने में सिर्फ एक ही सफल आईपीओ आ पाया। हालांकि अब सेबी ने यूटीआई के आईपीओ को मंजूरी दे दी है

मुंबई

Coronavirus की वजह से सिर्फ शेयर बाजार (Share Market) ही नहीं, बल्कि आईपीओ बाजार (IPO Market) भी तबाह हो गया है। तभी तो चालू कैलेंडर (Current calendar year) साल के पहले 6 महीनों में महज एक ही आईपीओ आ पाया है। इस तरह से आईपीओ का आंकड़ा 2014 के स्तर पर पहुंच गया है। उस साल में भी पहले 6 महीने में महज एक ही आईपीओ आया था।

6 महीने में मात्र एक आईपीओइस साल अभी तक मात्र एक आईपीओ बाज़ार में आया है। वह है एसबीआई कार्ड (SBI Card) का। इसमें भी निवेशक घाटे में ही रहे हैं। यह आईपीओ के भाव की तुलना में 18 प्रतिशत डिस्काउंट पर कारोबार (Discount trading) कर रहा है। यह डिस्काउंट पर है लिस्ट भी हुआ था।

2014 में भी 6 महीने में एक ही आईपीओ
वर्ष 2014 में हालांकि 6 महीने में दो आईपीओ आए थे, पर एक आईपीओ को सब्सक्रिप्शन नहीं मिलने की वजह से वापस ले लिया गया था। इस साल भी यही हाल रहा है। इस साल एसबीआई कार्ड के अलावा एक एंटोनी वेस्ट का आईपीओ आया था, और उसे पूरा सब्सक्रिप्शन नहीं मिलने पर वापस ले लिया गया था।

अब नजर यूटीआई के आईपीओ पर
बाजार नियामक सेबी ने यूटीआई के आईपीओ को मंजूरी दे दी है। यूटीआई 3000 करोड़ रुपए का आईपीओ लानेवाला है। पिछले हफ्ते ही इम्तियाजुर रहमान को कंपनी का स्थाई एमडी बनाया गया है। उम्मीद की जा रही है कि कंपनी शीघ्र ही आगे की रणनीति का खुलासा करेगी।

एलआईसी के आईपीओ का भी इंतजार
कोरोना से पहले एलआईसी (Life Insurance Corporation of India) के आईपीओ को लेकर जरूर कुछ पॉजिटिव माहौल बना था, पर कोरोना ने पूरे माहौल को चौपट कर दिया। हालांकि अभी भी यह संभव है कि इस वित्त वर्ष में यह आईपीओ आ जाएगा, पर यह काफी बड़ा आईपीओ है। इसलिए इसमें थोड़ी देरी भी हो सकती है। विश्लेषकों के मुताबिक अभी भी आईपीओ बाजार या सेकेंडरी मार्केट अगले 3 महीने तक खराब रह सकता है। माना जा रहा है कि पहला आईपीओ आने में अगस्त लग सकता है।

इस साल ज्यादा थी उम्मीद
इस साल की शुरुआत में 20 हजार करोड़ रुपए के आईपीओ आने की उम्मीद थी। लेकिन यह सभी आईपीओ टल गए। इस वर्ष एसएमई प्लेटफॉर्म पर भी पिछले वर्ष की तुलना में काफी कम आईपीओ आए हैं। बीएसई और एनएसई पर मिलाकर एसएमई के महज 11 आईपीओ आए हैं। एसएमई प्लेटफॉर्म पर 2 से 5 करोड़ रुपए का भी आईपीओ लाने की मर्चेंट बैंकर्स की हिम्मत नहीं है। एसएमई प्लेटफॉर्म पर महज 65 करोड़ रुपए के आईपीओ आए हैं जो पिछले वर्ष की तुलना में काफी कम हैं।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं  महाराष्ट्र महाराष्ट्र जाने के लिए RT-PCR …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *