Breaking News
Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / आगूंचा जिंक में कोरोना ब्लास्ट, एमएसए ने सीएम को लिखा पत्र-भीलवाड़ा

आगूंचा जिंक में कोरोना ब्लास्ट, एमएसए ने सीएम को लिखा पत्र-भीलवाड़ा

आगूंचा जिंक में कोरोना ब्लास्ट, एमएसए ने सीएम को लिखा पत्र

रामपुरा आगुंचा जिंक में खनन कार्य पर रोक लगाने की मांग

भीलवाड़ा-(मूलचन्द पेसवानी)

भीलवाड़ा जिले के आसींद हुरड़ा विधानसभा क्षेत्र में स्थित हिंदुस्तान जिंक रामपुरा आगुचा माइन्स में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों के सामने आने से वहां काम करने वाले श्रमिकों व कार्मिकों में दहशत का माहौल बन गया है। क्षेत्रीय विधायक जब्बर सिंह सांखला ने गुरूवार को इस संबंध में प्रदेश के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। विधायक ने अपने पत्र में लिखा है कि अब तक हिंदुस्तान जिंक रामपुरा आगुचा माइन्स परिसर में काम करने वाले 35 से ज्यादा कोरोना संक्रमित सामने आ चुके है। इससे वहां पर काम करने वाले हजारों श्रमिकों व कार्मिकों के साथ उनके निवास वाले आस पास के गावों में भी संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। प्रतिदिन कोरोना पॉजिटिव केस सामने आ रहे है। बावजूद जिंक प्रबंधन की ओर से कोविड एडवाइजरी का पालन नहीं करके खनन कार्य को अनवरत जारी रखे हुए है।

विधायक सांखला ने सीएम को लिखे पत्र में कहा है कि एक ही खनन परिसर में अचानक कोरोना संक्रमितों की संख्या के मध्य नजर दो दिन पूर्व भीलवाड़ा के जिला कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक स्वयं वहां का दौरा कर जिंक प्रबंधन को दिशा निर्देश दिये थे। गुलाबपुरा में इन अधिकारियों ने ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों की बैठक में इस मामले में समीक्षा कर अधिकारियों को माकूल प्रबंध करने के साथ साथ जिंक में काम करने वालों के अधिकाधिक कोविड़ सेंपल लेने, उनके निवास स्थान वाले ग्राम में सर्वे करने को कहा गया था। इसके बाद भी जिंक में अब तक न तो काम बंद किया गया है न ही कार्मिकों की कोई सूचि प्रशासन को दी जा रही है। 

विधायक सांखला ने बताया है कि जिंक प्रबंधन द्वारा एडवाइजरी की पालना नहीं करने के साथ ही जिला कलेक्टर के निर्देशों का उल्लंगन करने पर जिंक के खिलाफ महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई अमल में लायी जानी चाहिए तथा तत्काल जिंक को बंद कर सभी कार्मिकों व उनके परिजनों का कोविड़ सेंपल लेने का सघन अभियान चलाया जाना चाहिए। इसके लिए आवश्यकता होने पर राज्य सरकार मेडिकल की टीम को मौके पर भेजें क्यों कि वहां पर काम करने वालों की संख्या हजारों में है जिसमें कई विदेशों के नागरिक भी है। विधायक सांखला ने इस संबंध में जिला प्रशासन व राज्य सरकार के आला अधिकारियों से बात कर भी जिंक में माकूल बंदोबश्त कराने की मांग की है ताकि वहां काम करने वालों की जान सुरक्षित रह सके।

Check Also

हाइवे पर गौवंश की सहायता व उपचार के लिए 50 मेडिकल किट का वितरण

हाइवे पर गौवंश की सहायता व उपचार के लिए 50 मेडिकल किट का वितरण शाहपुरा …