Home / देश / आत्ममंथन

आत्ममंथन

आत्ममंथन

बड़ा अजीबोगरीब हमारा देश हिंदुस्तान है जहां लोग धान की आड़ में पांच लोगों को एक वक्त की रोटी दान करके 50 लोगों को फोटो खिंचवा कर अपना चेहरा समाज के सामने एक दानी के रूप में स्थापित करना चाहते हैं और उन बेबस गरीब का लाचार चेहरा दिखाना चाहते हैं समय संकट की घड़ी में देश की सहायता करने का है किसी के ऊपर एहसान जताने का नहीं जिसे दान ही करना है घर-घर जाकर दान करें दान लेने वालों की वीडियो और फोटो लेने की जरूरत नहीं है कई दिन शोध कई दिन से देखते हुए आज मेरा मन इतना व्यथित हो गया कि कोरोनावायरस लाक डाउन तक अपनी कलम को विराम देना चाहता हूं और मेरे विचारों से किसी को ठेस लगे तो उसके लिए सहर्ष क्षमा प्रार्थी हूं।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं  महाराष्ट्र महाराष्ट्र जाने के लिए RT-PCR …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *