Home / उत्तराखंड / चमोली / उत्तराखंड चमोली जिले में लोग भरपूर सहयोग दे रहे हैं-चमोली

उत्तराखंड चमोली जिले में लोग भरपूर सहयोग दे रहे हैं-चमोली

एक बार फिर लॉक डाउन का असर दिखा उत्तराखंड चमोली जिले में लोग भरपूर सहयोग दे रहे हैं शासन प्रशासन की आज्ञा का सुबह 7:00 बजे से दिन के 1:00 बजे तक बाजारों में अपने-अपने आवश्यक चीजें खरीद रहे हैं और साथ में मेडिकल की दुकानें भी 1:00 बजे तक खुली नजर आ रही है उसके बाद शासन प्रशासन चौकन्ना हो जा रहा है पुलिस प्रशासन की बात की जाए 1:00 बजे के बाद पुलिस प्रशासन गश्त लगाते हुए गांव से लेकर के नगर तक अपनी सेवाएं देते नजर आ रहे हैं अभी तक चमोली जिले में एक भी पॉजिटिव नजर नहीं आया उत्तराखंड चमोली की बात की जाए हर आने जाने वाले पर विशेष नजर रख रही है चार पहिया वाहन फिलहाल बंद हो चुके हैं और दोपहिया वाहनों को फिलहाल छूट दी गई है कहीं गांव में तो लोग अपने घरों से बाहर तक नहीं निकल रहे हैं और चमोली पुलिस की बात की जाए पुलिस द्वारा हर गरीब व्यक्ति को राशन मुहैया करवाया जा रहा है और बीमार व्यक्ति को हॉस्पिटल तक पहुंचाया जा रहा है पुलिस का यह नेक काम काफी अच्छा देखने को मिल रहा है फिलहाल उत्तराखंड चमोली जिले के जितने भी बॉर्डर हैं वहां तक जाने वाले गाड़ियों पर रोक लगा दी गई है आवाजाही फिलहाल बंद हो गई है लॉक डाउन का असर हर गांव में देखने को मिल रहा है लोग नियमों का पालन कर रहे हैं और शासन प्रशासन का साथ भी दे रहे हैं कई व्यक्ति ऐसे भी है जो गरीबों का इस समय बहुत मदद कर रहे हैं राशन पहुंचाया जा रहा है सभी प्रकार की मदद दिया जा रहा है शासन प्रशासन द्वारा 3 महीने का राशन भी वितरण हो गया है और कुछ ही दिनों में सरकार द्वारा निशुल्क राशन भी वितरण किया जाएगा कोरोना वायरस का डर अभी भी स्थानीय लोगों को सता रहा है चमोली पुलिस बार-बार यह अपील कर रही है गलत अफवाह ना फैलाएं जाए और यदि कोई गलत अफवाह फैलाता है तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी और साथ में मौसम की मार भी उत्तराखंड चमोली जिले को झेलना पड़ रहा है लगातार मौसम बिगड़ने के कारण स्थानीय लोगों को काफी दिक्कतें आ रही है निचले इलाकों में लगातार बारिश और ऊपरी इलाकों में लगाता बर्फबारी हो रही है एक तरफ कोरोनावायरस का कहर दूसरी तरफ मौसम की मार स्थानीय लोगों का कहना है कि जाएं तो कहां जाएं काफी दिक्कतें आ रही है लोग अपने घरों में कैद हैं इस महामारी को देखते हुए सभी गांव में सन्नाटा छा रखा है जोशीमठ से देखिए नवीन भंडारी की एक खास रिपोर्ट

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

हंस फाउंडेशन दे रहा है जोशीमठ के सभी गांव में अपनी सेवा

हंस फाउंडेशन हेल्प एज संस्था आज से अपनी पूर्ण सेवा जोशीमठ के सभी गांव में …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *