Breaking News
Home / राजस्थान / सवाई माधोपुर / उड़द, बाजरा व अन्य फसल खराबे के मुआवजे की मांग को लेकर जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन सवाई माधोपुर

उड़द, बाजरा व अन्य फसल खराबे के मुआवजे की मांग को लेकर जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन सवाई माधोपुर

भाजपा प्रदेश मंत्री एवं पूर्व विधायक खण्डार जितेन्द्र गोठवाल के नेतृत्व में खण्डार विधानसभा क्षेत्र के किसानों ने प्राकृतिक आपदा के कारण खराब हुई उड़द, बाजरा व अन्य फसलों की गिरदावरी करवाकर मुआवजे की मांग को लेकर जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में बताया गया है कि प्राकृतिक आपदा के प्रकोप के कारण खण्डार क्षेत्र के अधिकतर गाॅवो में उड़द, बाजरे व अन्य फसले बिल्कुल खराब हो गई है। विगत लगभग 6 माह से संपूर्ण विष्व में कोरोना नामक गंभीर बिमारी से एक और गंभीर वित्तिय सकंट से आमजन व क्षेत्र का किसान प्रभावित है। किसान वर्ग अभी तक कोरोना नामक महामारी के सदमे से अभी तक पूर्णतयः उभरा नहीं है दूसरी और इसी के साथ ही इस सत्र में प्राकृतिक आपदा ने किसानों की कमर तोड़ने का काम किया है। इस वर्ष पांचोलास, खिजुरी, रवांजना चैड़, रवांजना डुगंर, मुई, कुस्तला, डेकवा, घुड़ासी, आदलवाड़ा आदि कई गांवों में किसानों की उड़द, बाजरे व अन्य फसल में किड़े लग गये है व उड़द की फसल पुर्णतयः नष्ट हो गई है। जिससे क्षेत्र के किसानों की बची हुई उम्मीदों पर भी पानी फिर गया है।

गोठवाल ने ज्ञापन में बताया है कि अभी तक किसानों को विगत दो वर्षो का ओलावृष्टि से फसल खराबे का मुआवजा भी नहीं मिल पाया है। उन्होने आरोप लगाया कि विधानसभा चुनाव के दौरान प्रदेष सरकार द्वारा किसानों से वोट लेने के लिये लुभावने वादे किये गये थे। प्रदेष की काग्रेंस सरकार ने किसानों से वादा किया था कि वे 10 दिन के अन्दर किसानों का संपुर्ण कर्जा माफा करेगे व किसानों के हित में कार्य करेगें। किसानों के साथ प्रदेष की सरकार ने धोखा किया है। वर्तमान में प्रदेष सरकार द्वारा किसानों का कर्जा माफ तो नहीं किया गया साथ ही किसानों का खुन चुसने का कार्य प्रदेष सरकार द्वारा किया जा रहा है। क्षेत्र के किसान सरकारी बैंक, ग्रामीण बैंक व वाणिज्यक बैको में अपने कर्जा माफी को लेकर दर दर की ठोकरे खा रहे है। 1993 के बाद विगत 2 साल से राजस्थान में टिडियों का हमला लगातार हो रहा है। प्रदेष की सरकार द्वारा किसानों के हित में इस दिषा में कोई कदम नहीं उठाया गया है।

भाजपा प्रदेश मंत्री गोठवाल ने बताया कि इसके साथ ही जिला कलेक्टर (भू0अ0) सवाई माधोपुर द्वारा पूर्व में किसानो की समस्याओं को देखते हुये तहसील मलारना डुगंर, बोंली व सवाई माधोपुर में तहसील आॅनलाईन होने तक संबधित पटवारियों को आॅफलाईन नामान्तरण दर्ज करने हेतु निर्देषित किया गया था। वर्तमान में आॅफलाईन नामान्तरण के आदेष स्थगित होने के कारण किसानों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। अतः उक्त आदेष को पुनः लागु किया जाये। जिससे किसानों को राहत मिल सके।

इस दौरान गोठवाल ने चेतावनी देते हुऐ कहा कि अगर तीन दिन के अन्दर उड़द, बाजरे व अन्य फसल खराबे की गिरदावरी के आदेष नहीं किये गये तो पूरे जिले भर में जिले के किसानों द्वारा एक बड़ा किसान आंदोलन किया जायेगा। जिसकी जिम्मेदारी स्वंय प्रषासन की होगी।

जिला कलेक्ट्रेट में प्रदर्षन के दौरान प्रदेष मंत्री भाजपा जितेन्द्र गोठवाल ने सभी किसानों को साथ लेकर फसल मुआवजे की मांग व गिरदावरी हेतु विरोध प्रदर्षन किया। लगभग 3 घंटे चले विरोध प्रदर्षन के बाद अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन लिया व आज षाम से फसल खराबे की गिरदावरी के आदेष देने का आष्वासन दिया।

Check Also

सवाई माधोपुर -नगर परिषद गंगापुर सिटी में गंदगी और कचरा बना लोगों की मुसीबत

सवाई माधोपुर- उपखंड गंगापुर सिटी में नगर परिषद इन दिनों पूर्णतः निष्क्रिय और लापरवाह नजर …