Home / उत्तराखंड / चमोली / एचसीसी कंपनी द्वारा मजदूरों का शोषण – जोशीमठ

एचसीसी कंपनी द्वारा मजदूरों का शोषण – जोशीमठ

एचसीसी कंपनी द्वारा मजदूरों का शोषण मजदूरों को जबरदस्ती काम के लिए मजबूर किया जा रहा है मजदूरों को 3 महीने पूरे होने पर 1 माह का वेतन दे रही है और श्रम कानून का पूर्ण रूप से उल्लंघन किया जा रहा है मजदूरों की रजिस्टर्ड यूनियन को कंपनी प्रबंधन जबरदस्ती अपनी यूनियन में मिलने के लिए मजबूर कर रही है और मैनेजमेंट का दावा है कि यदि यूनियन कंपनी की यूनियन में शामिल नहीं होती है तो यूनियन के पदाधिकारियों को कंपनी निष्कासित कर देगी जो कि भारत सरकार द्वारा पंजीकृत ट्रेड यूनियन है जो तपोवन विष्णु गाड़ एचसीसी वर्कर्स यूनियन जिस का रजिस्ट्रेशन नंबर 346 सरकार द्वारा पंजीकृत कराया गया है कंपनी से वेतन की मांग को लेकर यूनियन ने 9 दिसंबर से कार्य बहिष्कार पर है जिस पर कंपनी मैनेजमेंट एक भी बार मजदूरों के बीच आकर के यूनियन से वार्ता करने के लिए तैयार नहीं है मजदूरों का पूर्ण रूप से शोषण किया जा रहा है हम स्वतंत्र भारत में रहते हैं हुए भी अंग्रेजों की गुलामी की तरह आज भी एचसीसी कंपनी द्वारा मजबूर किया जा रहा है तपोवन के वर्करों ने अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए हैं जोशीमठ से नवीन भंडारी की रिपोर्ट

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

हंस फाउंडेशन दे रहा है जोशीमठ के सभी गांव में अपनी सेवा

हंस फाउंडेशन हेल्प एज संस्था आज से अपनी पूर्ण सेवा जोशीमठ के सभी गांव में …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *