Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / कटंगी जबलपुर स्थित प्रज्ञापीठ में हुआ आयोजन भीलवाड़ा

कटंगी जबलपुर स्थित प्रज्ञापीठ में हुआ आयोजन भीलवाड़ा

हंसराज चोधरी को प्रज्ञाश्री रत्न सम्मान, आयुर्वेदाचार्य व आयुर्वेद संत की उपाधि से किया सम्मानित

कटंगी जबलपुर स्थित प्रज्ञापीठ में हुआ आयोजन

भीलवाड़ा- मूलचन्द पेसवानी

जबलपुर मप्र के कटंगी में स्थित 13 वें पारद रामेश्वर ज्योर्तिलिंग पारदतीर्थ, प्रज्ञापीठ प्रज्ञाधाम में भीलवाड़ा जिले के मोतीबोर का खेड़ा स्थित श्री नवग्रह आश्रम के संस्थापक हंसराज चोधरी को प्रज्ञाश्री रत्न सम्मान, आयुर्वेदाचार्य व आयुर्वेद संत की उपाधि से सम्मान किया गया। यह सम्मान प्रज्ञापीठाधीश्वर महामण्डलेश्वर जगतगुरू स्वामी प्रज्ञानंद महाराज व उत्तराधिकारी साध्वी विभानन्द गिरी व आव्हान अखाड़ा के उपसभापति स्वामी शिवेश गिरी महाराज ने किया। सम्मान स्वरूप प्रज्ञापीठाधीश्वर महामण्डलेश्वर जगतगुरू स्वामी प्रज्ञानंद महाराज ने चोधरी को स्मृति चिन्ह, अभिनंदन पत्र दिया व आश्रम की शाॅल ओढ़ा कर सम्मान किया।

इस मौके पर आयोजित समारोह व धर्मसभा में प्रज्ञापीठाधीश्वर महामण्डलेश्वर जगतगुरू स्वामी प्रज्ञानंद महाराज ने कहा कि हंसराज चोधरी धनवन्तरी के उपासक होकर अमृत कलश के संवाहक है। सनातन काल के आयुर्वेद को इस दौर में पुर्नजीवित करने, उनकी सेवा व साधना से अभिभूत होकर उनका यह सम्मान किया गया है। वो वास्तव में आयुर्वेद के संत होकर प्रज्ञा रतन है। स्वामी प्रज्ञानंद ने कहा कि चरक सुश्रुत की परंपरा को आज भी जीवीत रखने के कार्य में काम करने वालों का सम्मान व उन संस्थाओं को पोषित करने का काम सरकार व समाज को करना होगा तभी यह विद्या जीवित रह सकेगी। उन्होंने नवग्रह आश्रम को भी अद्वितीय बताते हुए वहां नवग्रह आयुष विज्ञान मन्दिर की स्थापना व भारतीय गौदर्शन गौशाला को भी देश के लिए प्रेरणास्त्रोत बताते हुए इसी माह नवग्रह आश्रम पहुंच कर वहां के दर्शन करने की इच्छा व्यक्त भी की है।

उल्लेखनीय है कि श्री नवग्रह आश्रम के संस्थापक हंसराज चोधरी की केंसर सहित अन्य रोगों के उपचार के लिए आयुर्वेद व वानस्पतिक चिकित्सा में दी जा रही सेवाओं के फलस्वरूप प्रज्ञापीठ में आयोजित शिवरात्रि महोत्सव में सम्मान किया गया है। इस दौरान समारोह में श्रीपंच दशनाम जूना अखाड़ा के महामण्डलेष्वर स्वामी यतीन्द्र गिरी महाराज भी मौजूद रहे।

पत्रकार पेसवानी का भी सम्मान- इसी समारोह में पत्रकारिता के माध्यम से आयुर्वेद साहित्य को जन जन तक पहुंचाने व आयुर्वेद व सनातन संस्कृति के प्रति जनजागरण के लिए शाहपुरा के पत्रकार व नवग्रह आश्रम के मीडिया के प्रभारी मूलचन्द पेसवानी को भी प्रज्ञापीठाधीश्वर महामण्डलेश्वर जगतगुरू स्वामी प्रज्ञानंद महाराज ने सम्मानित किया।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *