Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / कांग्रेस नेता देवेंद्र सिंह की देह पंचतत्व में विलीन, सीएम, स्पीकर पहुंचे अंतिम विदाई में भीलवाड़ा

कांग्रेस नेता देवेंद्र सिंह की देह पंचतत्व में विलीन, सीएम, स्पीकर पहुंचे अंतिम विदाई में भीलवाड़ा

कांग्रेस नेता देवेंद्र सिंह की देह पंचतत्व में विलीन, सीएम, स्पीकर पहुंचे अंतिम विदाई में

भीलवाड़ा- मूलचन्द पेसवानी

प्रदेश के मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष रविवार को एक दिवसीय दौरे पर भीलवाड़ा जिले के बड़लियास गांव में पहुंचे। वरिष्ठ कांग्रेस नेता कुंवर देवेंद्रसिंह के निधन पर उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होकर पुष्प चक्र अर्पित किया और परिवार के लोगों को ढाढस बधाया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हेलीकॉप्टर से बडलियास पहुंचे।

अंतिम संस्कार में राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, विधानसभा अध्यक्ष डॉ सी पी जोशी सहित जिले के जनप्रतिनिधियों व अधिकारी मौजूद रहे। पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष कु देवेंद्र सिंह के शव को मुखाग्नि महाराज दिलीप सिंह, पुत्र विजय सिंह, लक्ष्मण सिंह, पौत्र प्रद्युमन सिंह ने दी।

इस मौके पर कोंगेस राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर, सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना, विधायक रामलाल जाट, गोपाल खंडेलवाल, सुरेंद्र सिंह जाड़ावत, पूर्व विधायक प्रदीप कुमार सिंह, विवेक धाकड़, भाजपा जिलाध्यक्ष लादूलाल तेली, कांग्रेस जिलाध्यक्ष रामपाल शर्मा सहित क्षेत्र के हजारों लोगों ने दिवंगत कु देवेंद्र सिंह को श्रदासुमन अर्पित की।

अंत्येष्ठि के बाद हेलीपैड पर मीडिया से मुखातिब होते हुए गहलोत ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले अमित शाह कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते थे लेकिन कांग्रेस के राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री व गृहमंत्री के मुंह पर ताला लगा दिया।

गहलोत ने कहा कि आज हमारे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कुंवर देवेंद्र सिंह का स्वर्गवास हो गया है। हम सबके लिए दुखद वह आहत पहुंचाने वाला है। लंबे समय तक उन्होंने प्रदेश के मंत्री व विधानसभा उपाध्यक्ष के रूप में जो जिम्मेदारी दी उनकी उन्होंने बखूबी निभाया। प्रदेश में उन्होंने अमिट छाप छोड़ी। उनका एक सपना था कि भीलवाड़ा जिले में ककरोलिया घाटी से भीलवाड़ा जिले वासियों को पेयजल के लिए पानी मिले। उनकी भावनाओं को देखते हुए उस योजना का चयन किया। उन्होंने हमेशा भीलवाड़ा जिले के अंदर सबके साथ समन्वय बनाकर राजनेताओं को जोड़ने का काम किया ।

नीति आयोग की बैठक में अर्थशास्त्रियों द्वारा इकोनामिक डाउन होने के सवाल पर गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री मीटिंग कर रहे हैं। मीटिंग में बजट की मीटिंग हो रही है। उनमें केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी मौजूद थे लेकिन वित्त मंत्री मौजूद नहीं थी। उससे अंदाजा लगा सकते हैं कि यह एक प्रकार से बिना वित्तमंत्री के बजट की मीटिंग कैसे होगी। उन्होंने कहा कि एक्सपर्ट बुला रहे लेकिन वित्त मंत्री का मौजूद नहीं रहना सरकार की ओर से स्पष्टीकरण आना चाहिए । 

उन्होंने कहा कि सीएए, एनआरसी ला रहे हैं इसे कोई तुक नहीं है । इन्होंने ना कोई प्रैक्टिकल किया ना होने वाला है। इन्होंने देश का ध्यान डाइवर्ट करने के लिए यह ऐक्ट लाए हैं। देश मे नौकरियां लग नहीं रही है।व्यापार बंद हो रहे हैं। टेक्सटाइल उद्योग ने पहली बार दिल्ली में विज्ञापन दिया कि हम डूब रहे हैं। आप सोच सकते हो कि देश किस दिशा में जा रहा है ।

मुख्यमंत्री ने केंद्रिय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में कृषि मंत्री कौन है। गहलोत ने खुद ने पूछा और प्रधानमंत्री व गृहमंत्री को ही पूरा देश जानता है। लेकिन किसी मंत्री को देश नहीं जानता है। यह उनकी सोच हो सकती है उनको पता ही नहीं की राहुल गांधी सोच देश मे आम लोग, गरीब व दलित के बारे में क्या सोच है मैं उनको जानता हूं। मैं राहुल गांधी के साथ 1 वर्ष तक गुजरात में साथ रहा। विपक्ष की भूमिका वर्तमान में देश में कांग्रेस पार्टी निभा रही है। कांग्रेस मुक्त भारत की जो बात प्रधानमंत्री वह गृहमंत्री करते थे उनके मुंह पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने ताला लगा दिया । अब मोदी में अमित शाह कांग्रेस मुक्त भारत की बात नहीं कर रहे हैं। इनके हाथ से वर्तमान में 6 राज्य छूट गए हैं । प्रदेश में शरहद इलाकों में टीडी के प्रकोप के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए गिरदावरी हमने शुरू करवाई है। 3 दिन के अंदर मुआवजा देना प्रारंभ कर दिया जाएगा। पीओके पर थल सेना अध्यक्ष के संसद के आदेश के इंतजार के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सेंसिटिव मामला है मेरे लिए कमेंट करना उचित नहीं है। यह पहले सेनाध्यक्ष ऐसे हैं जिन्होंने इस तरह की बात कही। मैं समझता हूं कोई भी ऐसे मामले में प्रधानमंत्री को चाहिए कि वह विपक्ष की पार्टियों को विश्वास में लेना चाहिए सरकार की सोच क्या है इसके बाद सेना अध्यक्ष व नेता को कमेंट करना चाहिए। अब देखना यह होगा जिसका पूरे देश में विरोध हो रहा है रुकता है या नही।

पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष देवेंद्र सिंह के निधन पर पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बदनोर की और से व भाजपा पूर्व जिलाउपाध्यक्ष उम्मेद सिंह राठौड़, पूर्व प्रधान चंदरवीर सिंह, चतर सिह ने पुष्पचक्र अर्पित किए।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *