Home / देश / कांग्रेस से अदावत ने शिवसेना के अरमानों पर फेरा पानी? अब फैसला सोनिया के हाथ |

कांग्रेस से अदावत ने शिवसेना के अरमानों पर फेरा पानी? अब फैसला सोनिया के हाथ |

कांग्रेस से अदावत ने शिवसेना के अरमानों पर फेरा पानी? अब फैसला सोनिया के हाथ |

महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों से सत्ता की हलचल तेज तो हुई है लेकिन सरकार बनने की कोई सूरत नहीं दिख रही. सोमवार को शिवसेना को सरकार बनाने के बारे में शाम साढ़े सात बजे तक राज्यपाल को बता देना था लेकिन वो इसमें नाकाम रही. उसे राज्यपाल ने मंगलवार रात साढ़े आठ बजे तक समय दिया है.

यहां समझना जरूरी है कि सत्ता में शामिल होने का इतना सुनहरा मौका हाथ आने के बाद भी कांग्रेस शिवसेना के साथ जाने में हिचकिचा क्यों रही है. क्या इसका कारण शिवेसना का इतिहास है. बता दें, ट्रेड यूनियनों से मुकाबले के लिए इंदिरा गांधी ने शिवसेना को खड़ा किया था लेकिन धीरे-धीरे कट्टर हिंदुत्व की तरफ झुकाव ने शिवसेना को कांग्रेस से दूर कर दिया.

अब महाराष्ट्र की राजनीति एक ऐसे चौराहे पर आ खड़ी हुई है जिसमें सबके दावे अलग हैं. शिवसेना को पहले उम्मीद थी कि अगला मुख्यमंत्री उसका होगा लेकिन कांग्रेस के रुख ने शिवसेना के सपनों पर पानी फेर दिया. कांग्रेस के विधायक जयपुर के देउना विस्टा रिजॉर्ट में ठहरे हैं लेकिन उनके नेताओं में दिल्ली में हलचल है.

दूसरी ओर उद्धव ठाकरे ने सरकार बनाने को लेकर सोनिया गांधी को फोन किया लेकिन सोनिया गांधी ने अपना पत्ता नहीं खोला. 10 जनपथ की बैठक खत्म हुई तो शिवसेना के लिए कोई साफ संदेश आया नहीं. अब महाराष्ट्र की राजनीति मंगलवार को किस दिशा में जाएगी, ये देखने वाली बात होगी. 

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं  महाराष्ट्र महाराष्ट्र जाने के लिए RT-PCR …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *