Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / कृषि मंडी में व्यापारियों ने की अनिश्चितकालीन हड़ताल प्रांरभ व्यापार मंडल ने 6 मई से मंडी में सभी कृषि कार्य बंद रखने का किया आव्हान भीलवाडा

कृषि मंडी में व्यापारियों ने की अनिश्चितकालीन हड़ताल प्रांरभ व्यापार मंडल ने 6 मई से मंडी में सभी कृषि कार्य बंद रखने का किया आव्हान भीलवाडा

कृषि मंडी में व्यापारियों ने की अनिश्चितकालीन हड़ताल प्रांरभ
व्यापार मंडल ने 6 मई से मंडी में सभी कृषि कार्य बंद रखने का किया आव्हान
शाहपुरा-(मूलचन्द पेसवानी)
राजस्थान सरकार द्वारा कृषक कल्याण फीस (अतिरिक्त टैक्स) 2 प्रतिशत सभी कृषि जिंसों पर लगाया है। इसे लेकर व्यापार मंडल द्वारा शाहपुरा कृषि मंडी में अनिश्चित कालीन हड़ताल व्यापार मंडल के आव्हान पर कर दी है। व्यापार मंडल सचिव देवेंद्र झंवर ने बताया कि अध्यक्ष रतन लाल झंवर व व्यापार मंडल ने निर्णय लिया कि व्यापारी तब तक यह हड़ताल जारी रखेंगे जब तक सरकार इस टैक्स को समाप्त नही करेगी। झंवर ने बताया कि कृषक कल्याण फीस के नाम से 2 प्रतिशत शुल्क से किसान को दोहरी मार झेलनी पड़ेगी इससे व्यापारियों को भी नुकसान होगा। जिले व प्रदेश व्यापार मंडल के व्यापारियों के आव्हान पर 6 मई से मंडी में अनिश्चितकालीन हड़ताल रहेगी। झंवर ने सभी मंडी व्यवसाइयों से आव्हान किया कि कोई भी व्यापारी अपनी दुकान पर किसी भी तरह की कृषि जिंस की छन्नाई तुलाई कार्य नहीं करवायेगा।
समर्थन मूल्य पर तुलाई केंद्र संचालित रहेंगे-इस मामले में कृषि मंडी अध्यक्ष उपखंड अधिकारी श्वेता चैहान ने बताया कि अभी इस संदर्भ में हमारे पास कोई ऐसी जानकारी नही है। 6 मई को मंडी में समर्थन मूल्य पर चना, सरसों व गेंहू की तुलाई जारी रहेंगी।
सरकार की ओर से यह आया आदेश-कृपया अधिनियम में संशोधन हेतु लाए गए अध्यादेश का अवलोकन करें अध्यादेश के द्वारा मंडी अधिनियम में नई धारा 17ं को तत्काल प्रभाव से जोड़ा गया है। इस धारा को जोड़े जाने के उपरांत राज्य में कृषक कल्याण फीस 2ः की दर का प्रावधान किया गया है । अतः तत्काल प्रभाव से 2 प्रतिशत की दर से कृषक कल्याण फीस मंडी क्षेत्र में आने वाली, विक्रय या क्रय होने वाले कृषि जिंसों पर लिया जाना है। धारा 17 में संशोधन के उपरांत मंडीक्षेत्र में आने वाली, मंडी क्षेत्र में विक्रय होने वाली, एवं मंडी क्षेत्र में क्रय होने वाले समस्त कृषि जिंसों परमंडी शुल्क लिया जाना है।
मंडी शुल्क के साथ साथ कृषक कल्याण फीस भी ली जानी है कृषक कल्याण फीस लेने की प्रक्रिया वही होगी जो मंडी शुल्क लिए जाने के लिए निर्धारित है

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *