Breaking News
Home / देश / राजस्थान / करौली / कैला देवी आस्था धाम में एनजीटी के आदेश |

कैला देवी आस्था धाम में एनजीटी के आदेश |

कैला देवी आस्था धाम में एनजीटी के आदेश

   कैलादेवी कस्बे में भोपाल एनजीटी कोर्ट मैं मूल सिंह द्वारा रिट लगाने पर कोर्ट के आदेश है कि कस्बे के अंदर 1 किलोमीटर के दायरे में किसी भी प्रकार की कोई भी रजिस्ट्री नहीं हो getगी और नाही नए ना पुराने निर्माण नहीं होंगे और कस्बे में नये पट्टे पर रोक लगा दी गई है । कस्बे के अंदर 1 किलोमीटर के दायरे में एनजीटी कोर्ट स्थाई व अस्थाई अतिक्रमण बताया गया है ।इस लिए उन्हें हटाऐ जाने के आदेश जारी किए गए हैं इसलिए पूरे कस्बे के लोगो मे भय व्याप्त है है । एनजीटी कोर्ट मे मूल सिंह द्वारा लगाई गई रिट द्वारा कालीसिल नदी को दूषित करने वाले लोग कैलादेवी कस्बे के लोगों को ठहराया गया है इसलिए कोर्ट में नाराज होकर कस्बे में यह सारी रोक लगाई गई है जिसका दंड कस्बे के लोगों को उठाना पड़ रहा है इस दौरान ग्रामीणों ने सरकार को यह बताया है कि भोपाल कोर्ट में मुलसिह द्वारा ग्रामीणों पर नदी को दूषित करने का आरोप झूठा है ग्रामीणों ने बताया है कि नदी को दूषित करने वाले लोग कस्बे के अंदर बड़ी बड़ी धर्मशालाओ द्वारा वह होटलों द्वारा फैलाई गई गंदगी व गंदा पानी नदी में जाता है एवं कैलादेवी कस्बा एक आस्था धाम है यहां पर हर साल मैं तीन मेले लगते हैं जिसमें बाहर से पधारे हुए श्रद्धालुओं द्वारा फैलाई गई गंदगी सारी नदी के अंदर जाती है और कालीसिल नदी में लाखों श्रद्धालुओं द्वारा स्नान करते समय शैंपू में डिटर्जेंट के इस्तेमाल करने से नदी दूषित हो रही है । कालीसिल नदी को दो या तीन साल मे खोला जाता है लेकिन करीब आठ या नौ साल से कुछ बाहुबली लोग अपनी लालच के खातिर अभी तक नदी के बांध के दरवाजे नहीं खोले है क्योंकि नदी दूषित करने का आरोप एनजीटी कोर्ट मे कस्बे के लोगों को जिम्मेदार ठहराया जाऐं ओर एनजीटी कि आड मे कस्बे के घरो को हटाया जा सके इसलिए कस्बे के लोगों की यह यह भी बताया है कि जो लोग कालीसिल नदी को दूषित कर रहे हैं उन पर बड़े पैमाने पर जुर्माना लगाया जाए या उनके द्वारा कालीसिल नदी को दूषित होने से बचाने के उपाय किए जाए ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया है कि कैलादेवी कस्बे के लोग देश आजाद हुआ जब से लेकर आज तक कांग्रेस पार्टी को समर्थन करते आये है इसलिए कुछ अन्य पार्टियों के लोगो द्वारा यहां के लोगों से द्वेष भावना से यहां के लोगों को एनजीटी की आड़ में हटाना चाहते हैं और अपना बदला लेना चाहते हैं और कैलादेवी कस्बे के गरीब लोगो को एनजीटी कि आड मे उनके घरो को उजाड़ना चाहते हैं क्योंकि यहां जमीन हड़पना चाहते हैं इसलिए कस्बे के लोगों की यह मांग है कि कांग्रेस सरकार हम गरीब लोगों की रक्षा करें वह हमारे आशियानो को टूटने से बचाया जाए अन्यथा यहां के लोगों मजबूरन आत्महत्या वह पलायन करना पड़ेगा । क्योंकि यहां के लोग गरीब असहाय है इसलिए हमारे पास इसके अलावा कोई रास्ता नहीं है इसलिए कस्बे के लोगों की सरकार से मांग है की हमें इस समस्या से जल्द से जल्द निजात दिलाई जाए। कस्बे लोगो ने बताया कि हर साल नदी को स्वच्छ रखने के लिए कस्बे केे लोगो भी नदी के अंदर से गंदगी को सफाई करते हैं और अपने घरों के गंदे पानी को भी अपने ही लेट्रिन बाथरूम के गड्ढे में जाता है इस लिए जो लोग नदी को दूषित करते हैं उन्हें इसका जिम्मेदार बनाया जाए इस मौके पर मौजूद लोग सर्व समाज सेवा समिति कैलादेवी की सदैव जितेंद्र बाल्मीकि शिव कुमार जादौन राधेश्याम माली श्याम सिंह चंद्रशेखर मास्टर कांग्रेस पार्टी के दर्जनों वरिष्ठ कार्यकर्ता रामकेश मीणा बबलू शर्मा शिवराज मास्टर प्रेम सिंह मीणा मन्नू सेठ चेतराम मीण दिनेश मटोली बजरंग सेठ चरण ठेकेदार लोग मौजूद रहे

About राजेन्द्र प्रसाद कुम्भकार

News reporter

Check Also

मांड क्षेत्र के किसान पांचना बांध से पानी को लेकर सौंपा ज्ञापन

न्यूज रिपोर्ट करौली संवाददाता राजेंद्र प्रसाद मांड क्षेत्र के किसानों ने पांचना बांध से पानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *