Home / राजनीती / कोचर डूंगर, पट्टी के मकानों को तोड़फोड़ करने पर एडीएम को दिया ज्ञापन-गंगापुर सिटी

कोचर डूंगर, पट्टी के मकानों को तोड़फोड़ करने पर एडीएम को दिया ज्ञापन-गंगापुर सिटी

 

 

कोचर डूंगरपट्टी में मकानों को तोड़फोड़ के मामले में भाजपाई, गुर्जर समुदाय सहित सर्व समाज उतरा मैदान में…

 

गंगापुर सिटी तहसील की समय बरती तहसील बामनवास के ग्राम पंचायत कोचर डूंगर पट्टी की सतौलाई ढाणी में करीबन 5 दिन पूर्व वन विभाग के द्वारा वन विभाग की जमीन बताकर के गुर्जर समुदाय के एक दर्जन से अधिक परिवारों के मकानों को तोड़फोड़ करके बिल्कुल नष्ट कर दिया गया जिसको लेकर के गुर्जर समुदाय मैं भारी आक्रोश व्याप्त हो गया है..

गंगापुर शहर में बुधवार को युवा भाजपा नेता एवं समाजसेवी दर्शन सिंह गुर्जर मोतीपुरा के नेतृत्व में गुर्जर समुदाय , भाजपाई सहित सर्व समाज के युवाओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने अतिरिक्त जिला कलेक्टर नवरत्न कोली से मुलाकात करके घटना के बारे में जानकारी देते हुए गहरा आक्रोश प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा..

ज्ञापन में बताया कि बामनवास तहसील की ग्राम पंचायत कोचर डूंगर पट्टी की सतौलाई ढाणी में वन विभाग के अधिकारियों एवं प्रशासन के द्वारा 5 दिन पूर्व गुर्जर समुदाय के करीबन 1 दर्जन गरीब मजदूर किसान परिवारों के घरों को तोड़फोड़ करके बिल्कुल नष्ट कर दिया गया घरेलू एवं दैनिक उपयोगी सामानों को भी नहीं निकलने दिया उनको भी बिल्कुल नष्ट कर दिया गया वन विभाग के अधिकारियों के द्वारा वन भूमि बताकर के एकतरफा की गई इस कार्रवाई को लेकर के गुर्जर समुदाय सहित सर्व समाज के लोगों में भारी आक्रोश है क्योंकि यह गांव करीबन 1000 वर्ष पूर्व से इस डूंगर के ऊपर बसा हुआ है कहीं पीढिया यहां पर अपना गुजारा कर चुकी है पूर्व में भी इन ग्रामीणों को इंदिरा आवास योजना के तहत सरकारी मकान एवं बिजली कनेक्शन दिए गए हैं अगर वन विभाग की भूमि थी तो यह सरकारी लाभ किस आधार पर दिया गया और आज किस आधार पर इनको बेघर किया गया क्योंकि इस गांव के अधिकतर किसान अनपढ़ अशिक्षित एवं बेरोजगार है मवेशी पाल करके एवं मजदूरी करके अपना पालन पोषण करते हैं|

.इस पूरे प्रकरण की जांच की जाए एवं दोषी अधिकारी एवं कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए

. कोचर पट्टी गांव के आसपास की 12 ढाणियों को आबादी में कन्वर्जन किया जाए

. वन विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारियों के द्वारा वन भूमि पर जो मुंडडी बनाई जा रही है नापतोल की जा रही है वह गांवों एवं ढाणियों को बचाकर के की जाए

. जिन परिवारों के मकान तोड़े गए उनको प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नए मकान बनाकर दिए जाए

 

. पीड़ित परिवारों को पांच-पांच लाख रुपए का आर्थिक मुआवजा दिया जाए

. कोचर पट्टी सहित डूंगर के आसपास के गांवों एवं ढाणियों में चिकित्सा बिजली पानी सड़क सहित मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाए.

 

युवा भाजपा नेता दर्शन सिंह गुर्जर ने कहा कि कोर्ट का हवाला देकर वन विभाग के द्वारा मनमानी जो कार्रवाई की गई है बहुत ही निंदनीय है कांग्रेस सरकार के शासन में बड़े-बड़े भूमाफिया को एवं पूंजीपतियों को संरक्षण दिया जा रहा है गरीबों के घर उजाड़ जा रहे जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ,किसी शहर से झुग्गी झोपड़ी वासियों को हटाने से पहले सरकार उन्हें पुनः स्थापित करती है लेकिन यहां पर ऐसा नहीं हुआ..

 

वन विभाग के द्वारा जो एकतरफा कार्रवाई की गई है उसको लेकर के गुर्जर समुदाय सहित भाजपा परिवार एवं विभिन्न समाजों में भारी आक्रोश है अगर 7 दिवस के अंदर पीड़ित परिवारों के साथ न्याय नहीं हुआ एवं मुआवजा नहीं मिला तो आमजन के साथ उग्र आंदोलन करेंगे….

इस दौरान युवा भाजपा नेता दर्शन सिंह गुर्जर मोतीपुरा, सूबे सिंह बैंसला पिंटू सिराधना, सीताराम गुर्जर, दीपक गुर्जर, सुनील जोशी, मनोज कैमला, सनी गुप्ता, सचिन अग्रवाल, विकास मीणा ,रवि मीणा, महेश सैनी, मुरारी गुर्जर, सुरेश सैनी, मोनू शर्मा सहित कई भाजपाई एवं गुर्जर समुदाय के युवा मौजूद रहे

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

बौंली में एक बार फिर कोरोना विस्फोट प्रशासन की मौजूदगी में दुकानदारों की कराई गई सैंपलिंग

दीपावली त्यौहार के बाद बौंली क्षेत्र में एक बार फिर से कोरोना वायरस का संक्रमण …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *