Home / राजस्थान / करौली / कोरोना की जंग के बीच बेजुबान जानवरों ओर पक्षियों का सहारा बना कांग्रेस पर्यावरण प्रकोष्ठ

कोरोना की जंग के बीच बेजुबान जानवरों ओर पक्षियों का सहारा बना कांग्रेस पर्यावरण प्रकोष्ठ

जब से देश में कोरोना महामारी का प्रकोप के बाद लोक डाउन लगा है तभी से समाज सेवकों के द्वारा इस जंग से इस जंग लड़कर से लड़कर जंग जीतने का जुनून सवार है जिस प्रकार जिले में रोटी बैंक बेसहारा लोगों को खाना पहुंचा रही है उसी प्रकार से जिला कांग्रेस कमेटी पर्यावरण प्रकोष्ठ के कार्यकर्ताओं के द्वारा रात दिन सेनेटाइजर का छिड़काव करने के बाद मास्क वितरण करके लोगो को जागरूक किया जा रहा है
जिला कांग्रेस कमेटी पर्यावरण प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष रविन्द्र शर्मा गज्जूपूरा ने बताया कि उनकी टीम के द्वारा रोज बेजुवां बेजुवान जानवरो को खाने पीने की व्यवस्था कि जा रही है
रविन्द्र रोज सुबह उठकर पाक्षियो को दाना डालकर के उनके परिंडो में पानी भरता है ओर हर दिन बरवासन माता के मंदिर के पास रह रहे सैकड़ों बंदरो के लिए उनके साथियों के सहयोग से 1 क्विंटल के केला, ककड़ी, टमाटर, बाजरा, चना, सटेडी खिला कर उनका पेट भर रहा है
ओर रोज आटा ओर दाल भी मछलियों को खिलाया जा रहा है ओर साथ में गायो के लिए भी चारा ओर पानी की व्यवस्था करवा रहा है

रविन्द्र ने बताया कि जब लोक डाउन नहीं तो तो यहां माता के दारवार में सैकड़ों श्द्धालुओं रोज आते थे उससे इं जानवरो का पेट भर जाता था पर इस महामारी के प्रकोप के चलते हुए यहां लोगो का आना जाना बंद होने से जानवरो को भूख से परेशानी झेलनी पड़ रही थी तो उसको देखते हुए उन्होंने उनकी मदद की ठान ली

रविन्द्र उसकी ग्राम पंचायत गज्जूपूरा में भी लोगो को जागरूक कर रहा है उनको जब पता लगता है तो इंसान हो या जानवर दौड़ा चला जाता है ओर उनकी मदद के लिए लग जाता है
उनके साथ में मक्खनलाल बैंक पीओ, पूर्व सरपंच,मुकेश प्रजापत, भीम सिंह डूडया ने राजेश मीणा, आदि भी विशेष सहयोग दे रहे है

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

बाजारों में भीड़, कैसे हारेगा कोरोना

देवउठनी एकादशी के कारण इस समय बाजारों में जबरदस्त भीड़ उमड़ रही है। लोग बाजारों …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *