Breaking News
Home / राजस्थान / सवाई माधोपुर / कोरोना जॉंच बढाने के साथ ही जांच रिपोर्ट समय पर मंगवाएंःः कलेक्टर

कोरोना जॉंच बढाने के साथ ही जांच रिपोर्ट समय पर मंगवाएंःः कलेक्टर

कोरोना के साथ मौसमी बीमारियों के उपचार की प्रभावी व्यवस्था की जाए

कोरोना जॉंच बढाने के साथ ही जांच रिपोर्ट समय पर मंगवाएंःः कलेक्टर

सवाईमाधोपुर, 17 अगस्त। जिला कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया ने चिकित्सा विभाग के अधिकारी एवं जिला अस्पताल के अधिकारी को निर्देश दिये हैं कि कोरोना जॉंच संख्या बढाने के साथ ही जांच रिपोर्ट समय पर मंगवाई जाए ताकि संक्रमित व्यक्ति का समय रहते पता चले और समय पर उपचार मिलने से उसकी जान बच सके। इसी प्रकार मौसमी बीमारियों से बचाव एवं उपचार के लिए प्रभावी व्यवस्था की जाए। 

सोमवार को कलेक्ट्रेट में आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक में जिला कलेक्टर ने कोरोना सेंपल की संख्या राज्य के औसत के अनुसार अवश्य की जाए। सुपर स्प्रेडर फल-सब्जी विक्रेता, ई-मित्र संचालक, पेट्रोल पम्प कार्मिक, किराना व्यवसायियों का प्राथमिकता के आधार पर तथा क्षेत्रवार कार्ययोजना बना कर सैम्पल लें। 

जिला कलेक्टर ने बताया कि कोरोना के साथ ही डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया, स्वाइन फ्लू पर भी नजर रखें। सभी राजकीय अस्पतालों में इनके उपचार की पर्याप्त दवा रखें। इनका प्रसार रोकने के लिये दोनों नगरपरिषद फोगिंग करवायें, मच्छररोधी घोल का छिडकाव करवायें तथा सफाई व्यवस्था को बेहतर करें। नालों की सफाई करवाई जाए। उन्होंने सीएम निशुल्क दवा एवं निशुल्क जांच योजनाओं की प्रगति की समीक्षा कर निर्देश भी दिए।

जिला कलेक्टर ने जेवीवीएनएल को झूलते तारों की मरम्मत करवाने, निर्धारित सपोर्ट वायर और इन्सुलेटर लगवाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

जिला कलेक्टर ने पीएचईडी के अधीक्षण अभियन्ता को निर्देश दिये कि नये हैण्डपम्प लगाने तथा खराब हैण्डपम्पों की मरम्मत कार्य का साप्ताहिक कार्यक्रम बनायें तथा लक्ष्यों को समय पर प्राप्त करें। उन्होंने खराब आरओ प्लांट की समय पर मरम्मत करवाने के निर्देश दिये। जेवीवीएनएल अधीक्षण अभियन्ता को कृषि कनेक्शन देने का कार्य जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार आरयूआईडीपी के अधिशासी अभियंता को सीवरेज के कार्य को समय पर पूर्ण करने के लिए कार्य की गति बढाने के निर्देश दिए। 

जिला कलेक्टर ने सीएम हैल्पलाइन पर दर्ज प्रकरणों का समय पर निस्तारण करने के निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि निस्तारित प्रकरण में शिकायतकर्ता से फीडबैक जरूर लें। कागज में काम हो गया और मौके पर नहीं मिला तो सम्बंधित अधिकारी के साथ ही मॉनिटरिंग अधिकारी के विरूद्ध भी कार्रवाई होगी। बैठक में मुख्यमंत्री महोदय की जनसुनवाई, घोषणा पत्र, बजट घोषणाओं की प्रगति की भी समीक्षा की गई। 

बैठक में एडीएम बीएस पंवार, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश कुमार, सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे। 

Check Also

जयपुर -एक ही परिवार के चार सदस्यों ने की आत्महत्या

फाँसी लगाकर की आत्महत्या पति पत्नी और दो बच्चों ने लगायी फाँसी ज्वेलरी का व्यापार …