Home / उत्तर प्रदेश / गन्ना पर्ची न मिलने से गन्ना माफिया सक्रिय किसान मजबूर-उत्तर प्रदेश

गन्ना पर्ची न मिलने से गन्ना माफिया सक्रिय किसान मजबूर-उत्तर प्रदेश

गन्ना पर्ची न मिलने से गन्ना माफिया सक्रिय किसान मजबूर

 कुशीनगर। खड्डा आईपीएल चीनी मिल और छितौनी के किसानों का पर्ची सप्लाई धीमी गति होने के कारण अपनी गन्ना खरीफ फसल को लेकर किसान परेशान हैं तो दूसरी तरफ खेत खाली न होने के कारण कोई दूसरा फसल नहीं बो पा रहे हैं यह गन्ना पर्ची ना मिलने के कारण बड़ी समस्या बनी हुई है।

कांग्रेसी नेता अजय जायसवाल का मानना है कि क्षेत्र के बिशनपुरा बुजुर्ग धरणीपट्टी व सोहरौना आदि जगहों पर बकायदा काटा लगाकर अवैध तरीके से गन्ने की खरीद की जा रही है। इस स्थिति में उक्त शिकायती प्रकरण संख्या 11215/जनसुनवाई दिनांक 6 फरवरी 2020 द्वारा सचिव सहकारी जांच कर नियमानुसार आवश्यक कार्रवाई करने की बात कही गयीl

जबकि कांग्रेसी नेता अजय जायसवाल का कहना है कि गन्ना पर्ची धीमी गति होने के कारण किसान अपना गन्ना मजबूर होकर औने पौने दाम पर बेच रहे हैं इसका लाभ गन्ना माफिया उठाते हुए गैर जिम्मेदार तरीके से पर्ची उपलब्ध कर अन्य जगहों पर गन्ना की सप्लाई कर अच्छी खासी कमाई कर रहे हैं। तथा किसानों का हक मारा जा रहा है जबकि भारत सरकार उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि हर किसान को किसानी से संबंधित सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए लेकिन इस तरह की व्यवस्था उपलब्ध नहीं है।

गन्ना माफिया गरीब किसानों का हक मारने में पूरा पूरा सहयोग माना जा रहा है अब यह गरीब किसान किसके पास न्याय के लिए गुहार लगाएं यह सोचने वाली बात रह गई है यह किसान जो देश के भविष्य हैं इन्हीं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है तो किसान अब क्या करें।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

नाबालिग ने सोशल मीडिया पर योगी आदित्यनाथ की आपत्तिजनक तस्वीर की पोस्ट, मामला दर्ज

बलिया, 14 अक्टूबर । सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आपत्तिजनक तस्वीर डालने एवं …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *