Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / गरीब परिवारों को नहीं मिल रहा है प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ – भीलवाड़ा

गरीब परिवारों को नहीं मिल रहा है प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ – भीलवाड़ा

गरीब परिवारों को नहीं मिल रहा है प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

भीलवाड़ा जिले के बनेड़ा क्षेत्र में सरकार भले ही गरीबों को प्रधानमंत्री आवास दिलाकर लाभांवित कराने का दावा कर रही है, परंतु अभी भी बड़ी संख्या में गरीब परिवार बारिश का महीना गुजरने के बाद सर्दी के दिनों में अपने जर्जर कच्चे पुराने मकानों में जान हथेली पर रखकर रहने को मजबूर हैं। सर्दी से बचने के लिए रात रात भर जग कर अलाव सहारा लेना पड़ रहा है।

बनेड़ा तहसील क्षेत्र के बामणिया ग्राम पंचायत कस्बे में रहने वाले रामलाल गुर्जर पुत्र लक्ष्मण गुर्जर उम्र (55 )वर्षों से पत्नी एवं बच्चों के साथ एक कच्चे मकान में रहने को मजबूर है। रामलाल गुर्जर ने बताया कि बेटे की बहू सहित हमारे घर में 8 सदस्य है और रहने को एक कच्ची झोपड़ी है। जो भी जर्जर है जो कभी भी ढह सकती है। लेकिन प्रशासन हमारी सुध नहीं ले रहा है। कई बार प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर चुके हैं, लेकिन अभी तक किसने भी हमारी ओर ध्यान नहीं दिया है। जिससे हम पूरे परिवार सहित जान हथेली पर लेकर बारिश के बाद में जर्जर हुई एक ही झोपड़ी में रहने को मजबूर है।

बामणिया कस्बा निवासी रामेश्वर माली ने बताया कि 3 माह पहले बारिश के दिनों में कच्ची झोपड़ी थी जो ढह गई। जिसमें खाने-पीने के घरेलू सामान भी दब गए थे। ग्राम वासियों ने मदद की व खाने पीने के सामान जूटा कर दिए। ग्राम वासियों ने अपने स्तर पर ही ग्राम पंचायत का खाली पड़ा एक कमरा रहने के लिए दिलवा दिया। मैं अपनी 75 वर्षीय बुड्ढी मां एवं मेरी पत्नी एवं मेरे 5 बच्चों के साथ ग्राम पंचायत के कमरे में रहने को मजबूर हूं। प्रशासन मेरी ओर ध्यान नहीं दे रहा है। गांव में कई ऐसे अपात्र लोग हैं, जिनको प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ मिल गया है। हमारी ओर सरकार एवं प्रशासन के आदमियों का ध्यान नहीं जा रहा है मैं और मेरी पत्नी मजदूरी करके अपना और अपने बच्चों का पेट भर रहे हैं हमारे पास वापस मकान बनाने के लिए रूपये भी नहीं है लेकिन हम गरीब परिवार की कोई सुध नहीं ले रहा है।

बामणिया के सामाजिक कार्यकर्ता नरेंद्र सिंह कानावत ने बताया बामणिया ग्राम पंचायत क्षेत्र में बड़ी संख्या में गरीब परिवारों के लोग प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ पाने से वंचित हैं। पुराने कच्चे जर्जर मकानों में रहने को मजबूर हैं। आवासों का लाभ पाने के लिए अधिकारियों के कार्यालयों के चक्कर काटते काटते थक चुके हैं। बामणिया कस्बे में भेरू लाल गुर्जर पुराने कच्चे मकान में परिवार के साथ गुजारा कर रहा है। मकान की दीवारों में दरारे पड़ गई है 3 माह पूर्व हुई बारिश से मकान का काफी हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। किसी भी समय मकान धराशाही हो सकता है। परिवार पन्नी डालकर गुजारा कर रहा है। आरोप है कि कई बार अधिकारियों से शिकायत की परंतु आवास नहीं मुहैया कराया गया। 

इस संबंध में पंचायत समिति के विकास अधिकारी जगदीश गुर्जर का कहना है कि अभी तक ये प्रकरण जानकारी में नहीं है। बामणिया के ऐसे पात्र लोग अगर प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित रह रहे हैं तो उनकी पूरी डिटेल लेकर उन्हें जल्द ही इस योजना का लाभ दिलवा दिया जाएगा। दूसरी ओर सरपंच सोहन लाल भील का कहना है प्रधानमंत्री आवास की 2011 की लिस्ट में इनका नाम नहीं है। नई जो लिस्ट निकली है उनमें इनका नाम आ गया है और हमें आगे से आदेश मिलने के बाद इनको प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिलवा दिया जाएगा।

मूलचन्द पेसवानी 

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *