Home / राजस्थान / गाईडलाइन्स का उल्लघंन करने पर नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी-महानिदेशक पुलिस अपराध

गाईडलाइन्स का उल्लघंन करने पर नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी-महानिदेशक पुलिस अपराध

गाईडलाइन्स का उल्लघंन करने पर नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी-महानिदेशक पुलिस अपराध

जयपुर, 27 अगस्त। प्रदेश में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लागू राजस्थान एपिडेमिक अध्यादेश के तहत अब तक 5 लाख 62 हजार से अधिक व्यक्तियों का चालान कर 8 करोड 41 लाख रूपये से अधिक का जुर्माना वसूल किया जा चुका है।  

महानिदेशक पुलिस अपराध श्री एमएल लाठर ने बताया कि सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं लगाने पर 2 लाख 24 हजार से अधिक, बिना मास्क पहने लोगों को सामान बेचने पर 12 हजार 92, निर्धारित सुरक्षित भौतिक दूरी नहीं रखने पर 3 लाख 24 हजार 305 व्यक्तियों के चालान किये गये है। सार्वजनिक स्थलों पर थूकंने वाले, शराब का सेवन करने वाले व्यक्तियों एवं सार्वजनिक स्थलों पर गुटखा- तम्बाकू का सेवन करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही की गयी है।

 उन्होंने बताया कि निषेधाज्ञा तथा क्वारंटाईन मापदण्डों का उल्लघंन करने पर 3 हजार 616 एफआईआर दर्ज कर अब तक करीब 7 हजार 860 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। निषेधाज्ञा व एमवी एक्ट के तहत 8 लाख 60 हजार 814 वाहनों का चालान एवं 1 लाख 63 हजार 338 वाहनों को जब्त किया गया एवं करीब 15 करोड़ 61 लाख रुपये से अधिक जुर्माना वसूल किया जा चुका है।

      श्री लाठर ने बताया कि प्रदेश में 26 हजार 87 व्यक्तियों को सीआरपीसी के प्रावधानों के तहत शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया। सोशल मीडिया के दुरुपयोग के मामले में राजस्थान पुलिस की टीम लगातार नजर बनाए हुए है। पुलिस ने सोशल मीडिया के दुरुपयोग के मामलों में अब तक 219 मुकदमे दर्ज कर 300 असामाजिक तत्वों के खिलाफ अभियोग दर्ज किया है एवं 229 को गिरफ्तार किया गया है।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें – मुख्य सचिव

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *