Home / राजस्थान / चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने एल.जी. इलेक्ट्रॉनिक्स को चिकित्सालयों में उपकरण देने हेतु प्रशस्ती पत्र प्रदान किया-राजस्थान

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने एल.जी. इलेक्ट्रॉनिक्स को चिकित्सालयों में उपकरण देने हेतु प्रशस्ती पत्र प्रदान किया-राजस्थान

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने एल.जी. इलेक्ट्रॉनिक्स को चिकित्सालयों में उपकरण देने हेतु प्रशस्ती पत्र प्रदान किया 

जयपुर,  चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कोरोना महामारी के समय विभिन्न जिलों के राजकीय चिकित्सालयों में एल.जी. इलेक्ट्रॉनिक्स द्वारा उपलब्ध कराये गये चिकित्सकी उपकरणों की सहायता की सराहना करते हुए कहा कि यह अच्छी पहल है जिसका लाभ लोगों को मिलेगा।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त श्री धीरज श्रीवास्तव की प्रेरणा से फेडरेशन ऑफ राजस्थान ट्रेड एण्ड इंडस्ट्री (फोर्टी) के कार्यकारी अध्यक्ष श्री कमल कंदोई के संयुक्त तत्वावधान में एल.जी. इलेक्ट्रॉनिक्स द्वारा 30 जिलों के 58 राजकीय चिकित्सालयों में 129 कंज्यूमर ड्यूरेबल प्रोडक्ट्स सीएसआर के अन्तर्गत निःशुल्क उपलब्ध कराये गये। इसी प्रकार राजस्थान फाउंडेशन के प्रयासों से विभिन्न संस्थानों तथा भामाशाहों को प्रेरित कर जोधपुर, बीकानेर एवं सिरोही जिलों में भी आवश्यक उपकरण उपलब्ध करवाये गये तथा जालोर जिले में मांग के अनुसार भामाशाहों द्वारा बीटीएम उपलब्ध करवाया गया। 

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने इस अवसर पर एल.जी. इलेक्ट्रॉनिक्स के जयपुर शाखा प्रबंधक श्री कमल तिवाडी को प्रशस्ती प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर फोर्टी के कार्यकारी अध्यक्ष श्री कमल कंदोई, राजस्थान फाउंडेशन के प्रतिनिधि श्री राजेन्द्र कुमार मौर्य उपस्थित थे। 

 

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें – मुख्य सचिव

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *