Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / चिकित्सा क्षेत्र में मानव सेवा का कार्य सराहनीय- राकेश कुमार-भीलवाड़ा

चिकित्सा क्षेत्र में मानव सेवा का कार्य सराहनीय- राकेश कुमार-भीलवाड़ा

टीपीएफ व प्रेस क्लब के तत्वावधान में निःशुल्क चिकित्सा जांच शिविर 

चिकित्सा क्षेत्र में मानव सेवा का कार्य सराहनीय- राकेश कुमार

भीलवाड़ा- मूलचन्द पेसवानी

भीलवाड़ा में तेरापंथ प्रोफेशनल फोरम द्वारा संचालित आचार्य तुलसी महाप्रज्ञ चल चिकित्सालय द्वारा किया जा रहा मानव सेवा का यह कार्य सराहनीय है। इस प्रकार के उपक्रम से अधिक से अधिक लोग लाभान्वित हो। 

यह बात कार्यवाहक जिला कलक्टर राकेश कुमार ने मंगलवार को सूचना केन्द्र स्थित प्रेस क्लब भवन में तेरापंथ प्रोफेशनल फोरम एवं प्रेस क्लब के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित निःशुल्क चिकित्सा जांच एवं परामर्श शिविर के शुभारम्भ के अवसर पर व्यक्त किए। इस अवसर पर तेरापंथ प्रोफेशनल फोरम के राष्ट्रीय सहमंत्री अंकुर बोरदिया ने कहा कि आठ वर्षों से यह मोबाइल हाॅस्पीटल देश भर के 900 से अधिक गांवों में अपनी सेवाएं देकर लगभग डेढ़ लाख से अधिक रोगियों को राहत पहुंचा चुका है और विगत 15 दिसम्बर से यह भीलवाड़ा जिले में अब तक 13 निःशुल्क शिविर का आयोजन कर चुका है जिसमें तीन हजार से अधिक रोगियों को चिकित्सा परामर्श प्रदान किया गया। 

टीपीएफ के फंड रेजिंग कमेटी चेयरमेन पंकज ओस्तवाल ने तेरापंथ प्रोफेशनल फोरम की विभिन्न गतिविधियों एवं योजनाओं की जानकारी प्रस्तुत की। प्रेस क्लब अध्यक्ष सुखपाल जाट ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी पत्रकारों एवं समाजजनों का स्वागत करते हुए कहा कि क्लब सदैव पत्रकारों के हितों के लिए कार्य करता रहा है। इसी क्रम में आज इस चिकित्सा एवं परामर्श शिविर का आयोजन यहां किया गया। टीपीएफ भीलवाड़ा शाखा के अध्यक्ष भैरुलाल बाफना ने संस्था की स्थानीय गतिविधियों की जानकारी देते हुए बताया कि संस्था मानव सेवा कार्यों में सदैव तत्पर रही है। आगे भी इस प्रकार के आयोजन किये जाते रहेंगे।

कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों ने अणुव्रत समिति के नशा मुक्ति अभियान की प्रचार सामग्री का भी विमोचन किया। अन्त में प्रेस क्लब महासचिव राजेश मेठानी ने सभी का आभार जताया। कार्यक्रम का संचालन पत्रकार दिलीप सोनी ने किया। 

इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप अग्रवाल, शैलेन्द्र बोरदिया, हनुमान अग्रवाल, कैलाश त्रिवेदी, टीपीएफ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य लक्ष्मीलाल गांधी, ब्रांच सचिव धीरज जैन सहित डाॅ. एल.एल. सिंघवी, विनोद पितलिया, अभिषेक कोठारी, दीपक रांका, रचना सुराणा, विजया सुराणा, पुष्पा पामेचा, सुनीता बोहरा, पत्रकार योगेश शर्मा, ललित ओझा, धर्मेन्द्र कोठारी, राजीव दाधिच, मधु जाजू, किशोर पारदासानी, प्रहलाद तेली, गोविन्द पायक, राहुल कौशिक, अरुण मूछाल, पवनेश शर्मा, मनीष जैन, पंकज पोरवाल, देवेन्द्र द्विवेदी, ललित व्यास, लोकेश सोनी आदि उपस्थित थे।

एटीएम चल चिकित्सालय में यह सुविधाएँ है उपलब्ध –

यह मोबाइल हाॅस्पिटल पूर्णतः वातानुकूलित है, जहाँ पर अनुभवी डाॅक्टर्स एवं उनकी टीम द्वारा चिकित्सकीय सुविधाएँ प्रदान की जाती है। वर्तमान में 3 डाॅक्टर्स, एक लैब टेक्नीशियन सहित कुल 9 सदस्यों का स्टाफ अपनी सेवाएँ दे रहा हैं। इस चल चिकित्सालय में सुविधायुक्त उपकरणों सहित जनरल फिजिशियन, नेत्र रोग परीक्षण, दन्त रोग परीक्षण, लेबोरेट्री जांच, पेथोलोजी जांचों सहित आॅक्सीजन एवं आपातकालीन सुविधाएँ उपलब्ध है। एक आपातकालीन एम्बुलेंस भी सदैव इस चल चिकित्सालय के साथ रहती है जो रोगी की गंभीरता को देखते हुए उसे नजदीकी अस्पताल तक पहुँचाने का भी कार्य करती है। इस चल चिकित्सालय के माध्यम से चिकित्सा सेवा का लाभ लेने वाले रोगियों को उपलब्धता के अनुसार आवश्यक दवाईयां व चश्मे भी निःशुल्क प्रदान किये जाते है।

132 की जाँच कर दिया परामर्श – मंगलवार को सूचना केंद्र पर आयोजित चिकित्सा जांच एवं चिकित्सा शिविर में 132 रोगियों की जांच कर परामर्श दिया गया जिनमे 56 ने जनरल फिजिशियन की सेवाएं ली तो 67 ने नेत्र परीक्षण, 9 ने दन्त परीक्षण व 7 ने लेबोरेट्री जांच करवाई। शिविर में दवाइयाँ व चश्मे भी निःशुल्क प्रदान किये गए ।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *