Breaking News
Home / राजस्थान / जन घोषणा पत्र के 85 प्रतिशत बिंदु पूर्ण एवं प्रगतिरत – जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री

जन घोषणा पत्र के 85 प्रतिशत बिंदु पूर्ण एवं प्रगतिरत – जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री

जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री की अध्यक्षता में मंत्रीमंडलीय उप समिति की बैठक

जन घोषणा पत्र के 85 प्रतिशत बिंदु पूर्ण एवं प्रगतिरत

– जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री

जयपुर, 04 सितम्बर। राज्य सरकार के नीतिगत दस्तावेज ‘जन घोषणा पत्र‘ के क्रियान्वयन के लिए जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला की अध्यक्षता में गठित मंत्रीमण्डलीय उप समिति की बैठक शुक्रवार को शासन सचिवालय में दो सत्रों में आयोजित की गई।

बैठक के प्रातःकालीन सत्र में स्कूल शिक्षा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा तथा प्रशासनिक सुधार विभाग की प्रगति की समीक्षा की गई। दूसरे सत्र में वित्त, स्वायत्त शासन, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज, कृषि एवं उद्यानिकी, पर्यटन, नगरीय विकास एवं आवासन तथा युवा मामलात व खेल विभाग से सम्बंधित जन घोषणा पत्र के बिन्दुओं की समीक्षा हुई।  

बैठक में समिति के अध्यक्ष डॉ. कल्ला तथा सदस्यगण कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारिया और तकनीक शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने सीएमआईएस पोर्टल के माध्यम से सम्बंधित विभाग के अधिकारियो के साथ बारी-बारी से बिंदुओं की प्रगति के बारें में विचार विमर्श किया गया। बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव (वित्त) श्री निरंजन आर्य, अतिरिक्त मुख्य सचिव, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग श्री रोहित कुमार सिंह के अलावा सम्बंधित विभागों के प्रमुख शासन सचिव, शासन सचिव एवं अन्य सम्बंधित अधिकारी मौजूद रहे। आयोजना विभाग के शासन सचिव श्री सिद्धार्थ महाजन ने बैठक में विभागों की प्रगति के बारें में जानकारी दी।

समिति के अध्यक्ष तथा जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने बैठक के बाद बताया कि ‘जन घोषणा पत्र‘ के तहत विभिन्न विभागों से सम्बंधित 510 बिन्दुओं में से 85 प्रतिशत बिन्दुओं (435 बिंदु) पर अच्छी प्रगति है, इन बिन्दुओं के कार्य पूर्ण एवं प्रगतिरत हैं। इनमें से 141 घोषणाओं (27.6 प्रतिशत) से सम्बंधित कायोर्ं को पूरा कर लिया गया है, 97 कार्य (19 प्रतिशत) अनवरत प्रकृति (कंटीन्यू इन नेचर) के हैं तथा 197 कार्य (38.6 प्रतिशत) प्रगतिरत हैं।

डॉ. कल्ला ने बताया कि दो चरणों की बैठक में मेला प्राधिकरण का गठन, खेल नीति जारी करने, प्रदेश के गांवों में खेल स्टेडियमों का विकास और युवा बोर्ड बनाने जैसे बिन्दुओं सहित अन्य बिंदुओं पर सम्बंधित विभागों के अधिकारियों के साथ विस्तार से चर्चा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए गए। समिति की तीसरी बैठक शनिवार को शासन सचिवालय में आयोजित की जाएगी, जिसमें शेष विभागों की प्रगति की समीक्षा होगी।

Check Also

जल संसाधन विभाग की समीक्षा बैठक

जल संसाधन विभाग की समीक्षा बैठक प्रदेश में नहरी परियोजनाओं के नये कमाण्ड क्षेत्रों में  …