Home / राजस्थान / जरूरतमंद पाक विस्थापितों को उपलब्ध कराएं राशन सामग्री -मुख्यमंत्री

जरूरतमंद पाक विस्थापितों को उपलब्ध कराएं राशन सामग्री -मुख्यमंत्री

पाक विस्थापितों के हित में फैसला

जरूरतमंद पाक विस्थापितों को उपलब्ध कराएं राशन सामग्री -मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रदेश के किसी भी जिले में रह रहे पाक विस्थापित जरूरतमंद परिवारों को राशन सामग्री उपलब्ध कराने में कोई कमी नहीं रखी जाएगी।

श्री गहलोत ने इस सम्बन्ध में सीमांत लोक संगठन के अध्यक्ष श्री हिन्दू सिंह सोढ़ा का पत्र मिलने के बाद अधिकारियों को निर्देश दिए कि पाक विस्थापित परिवारों को राशन सामग्री समय पर मिले यह सुनिश्चित किया जाए।

मुख्यमंत्री को श्री सोढ़ा ने अपने पत्र में अवगत कराया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में करीब 6 हजार पाक विस्थापित परिवार रह रहे हैं, उनमें से कई जरूरतमंद परिवारों को लॉकडाउन के चलते राशन सामग्री की आवश्यकता है। 

श्री गहलोत ने इस सम्बन्ध में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए थे, जिस पर सम्बन्धित जिलों के कलेक्टर्स से रिपोर्ट मांगी गई थी। कलेक्टर्स द्वारा भेजी गई रिपोर्ट के अनुसार जयपुर जिले के जामड़ोली, गोविन्दपुरा एवं मांग्यावास में रह रहे 500 पाक विस्थापित परिवारों से जिला प्रशासन संपर्क में है एवं इन परिवारों को राशन सामग्री वितरित की जा रही है। 

जोधपुर जिले में 618 पाक विस्थापित परिवारों एवं जरूरतमंदों को राशन सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। साथ ही अतिरिक्त जिला कलेक्टर (द्वितीय) श्री महिपाल कुमार को सीमांत लोक संगठन के अध्यक्ष श्री सोढ़ा के सम्पर्क में रहने के निर्देश दिए गए हैं।

बाड़मेर जिले की शिव और चौहटन पंचायत समिति में करीब 200 पाक विस्थापित परिवारों, 

पाली जिले में रह रहे 92 परिवारों, 

बीकानेर जिले की पूगल एवं बज्जू तहसील में रह रहे 93 परिवारों को मांग के अनुसार राशन सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। 

जैसलमेर, जालौर एवं सिरोही जिलों में रह रहे पाक विस्थापित परिवारों को राशन सामग्री के साथ ही वित्तीय सहायता के लिए पात्र परिवारों को अनुग्रह राशि भी वितरित की जा रही है।

श्री गहलोत ने निर्देश दिए कि ऎसे जरूरतमंद पाक विस्थापित परिवार जो किसी भी सामाजिक सुरक्षा योजना के दायरे में नहीं आ रहे हैं, उन्हें राशन सामग्री के किट पहुंचाए जाएं।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें – मुख्य सचिव

मनरेगा में 15 लाख से अधिक परिवारों को 100 दिन का रोजगार अवश्य दिलवायें …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *