Breaking News
Home / राजनीती / जस्टिस बोबडे ने अयोध्या विवाद को बताया सबसे कठिन मामलों में से एक |

जस्टिस बोबडे ने अयोध्या विवाद को बताया सबसे कठिन मामलों में से एक |

जस्टिस बोबडे ने अयोध्या विवाद को बताया सबसे कठिन मामलों में से एक |

सुप्रीम कोर्ट अयोध्या मामले में अब तक का सबसे बड़ा फैसला सुना चुका है। सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच जजों की बेंच ने विवादित जमीन रामलला विराजमान को देने का फैसला किया है। अयोध्या विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट की ओर से लिए गए फैसले को जस्टिस शरद अरविंद बोबडे ने ऐतिहासिक बताया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक अगले चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबडे ने कहा कि जब अयोध्या पर फैसला देने का समय आया तो हम सभी जजों की सहमति थी कि यह एक फैसला होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सभी अयोध्या के फैसले को लेकर एक मत थे। जस्टिस बोबडे ने माना कि यह केस सबसे कठिन मामलों में से एक था।

उन्होंने बताया कि अयोध्या पर फैसला देने से पहले हम कानून व्यवस्था को लेकर थोड़ा चिंतित थे। फैसला सुनाने से पहले मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने यूपी के मुख्य सचिव और डीजीपी से मुलाकात की। हम संतुष्ट हैं कि हमने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। जस्टिस बोबडे ने कहा कि इस फैसले के बाद मैं एक ही संदेश देना चाहता हूं कि कई सालों से चला आ रहा यह विवाद अब खत्म हो गया है।

Check Also

भारत की परमाणु सहेली डॉ. नीलम गोयल गंगापुर में

गंगापुर सिटी डॉ. नीलम गोयल (भारत की परमाणु सहेली) अध्यक्ष, परमाणु सहेली, जल जनअभियान परमाणु …