Home / राजस्थान / टोंक / टोंक – प्लसेमेंट एवं संविदा कर्मियों को नियमित करने की मांग

टोंक – प्लसेमेंट एवं संविदा कर्मियों को नियमित करने की मांग

प्लसेमेंट एवं संविदा कर्मियों को नियमित करने की मांग

टोंक 9 दिसम्बर। राजस्थान शिक्षित बेरोजगार महासंघ के सदस्य आशीष कुमार चंचल ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर मांग की हैं कि राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में 4-5 वर्ष से नियमित प्लसमेंट एजेन्सी एवं संविदा पर लगे कर्मचारियों को चुनावों में किये गये वायदे के अनुसार नियमित किया जाए ताकि वर्षो से राजकीय सेवा दे रहे कार्मिकों को राज्य सेवाओं का लाभ मिल सके।

चंचल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लिखे पत्र में बताया कि राज्य सरकार के विभिन्न महकमों में विगत चार पांच वर्षो से प्लेसमेंट एजेन्सी एवं संविदा पर लगे कर्मचारियों को योग्यता के आधार पर विभाग में ही रिक्त पदों पर नियमित वेतन श्रंृखला देकर लाभान्वित किया जाए। उन्होने बताया कि कांग्रेस पार्टी ने अपने चुनावी घोषणाओं में ऐसे बेरोजगारों को रोजगार देने का वायदा किया था। अब कांग्रेस की सरकार बन चुकी हैं कांग्रेस को अपना वायदा पूरा करना चाहिए।

उन्होने यह भी बताया कि वर्ष 1980 में तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने जनगणना मेें सैकडों टेबूलेटरों के पद लगे कार्मिकों के लिए एक समझोते के तहत विशेष आरपीएससी की परीक्षाऐं आयोजित की गई। जिनमें उत्र्तीण होने वाले कार्मिकों को राज्य सेवा में नियमित नियुक्ति दी गई। इसी प्रकार राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में लगें सैकडों कार्मिकों के लिए विशेष परीक्षा आयोजित की जाकर बेरोजगार आशार्थियों के प्रति सहानुभूति पूर्ण रवैया अपनाते हुए लाभान्वित किया जाए।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

अब जालौर में गुर्जर आंदोलन की लहर

आज जालौर में भी गुर्जर देवासी समाज के सैकड़ों युवा कलेक्ट्रेट पर पहुंचे तथा कलेक्ट्रेट …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *