Home / उत्तर प्रदेश / लखनऊ / दुर्लभ बंदिशों का किया वादन – लखनऊ

दुर्लभ बंदिशों का किया वादन – लखनऊ

दुर्लभ बंदिशों का किया वादन

लखनऊ,1 मैंन कभी अपने शिष्यों से भेदभाव नहीं किया। पहले के गुरु भले ही कट्टर होते थे पर मैंने अपने शिष्यों को सिखने व सिखाने में भेदभाव नहीं किया क्यूंकि शायद मुझे भेदभाव की नीति संगीत के साथ बेइमानी लगती है। यह दिलच्स्प बातें सोमवार को तबला वादक पं.शीतलप्रसाद मिश्र ने कहीं। संगीत नाटक अकादमी में स्टूडियों रिकाडिंर् कार्यक्त्रम के दौरान उन्होंने कई संस्मरणों को साझा किया। बनारस घराने के विख्यात तबलावादक पं.शीतलप्रसाद मिश्र ने अपने कई रोचक संस्मरण सुनाते हुए कहा कि एक बार मुम्बई में सितारादेवी ने लगातार 12 घंटे तक कथक किया, उसमें कई तबला वादक बदले गए। सितारा देवी को देखकर पं. गोपीकिशन का भी जोश बढ़ा और बारह-साढ़े बारह घंटे उन्होंने भी डांस किया। उसमें भी कई तबला वादक बदले गए। कार्यक्त्रम में उन्होंने दुर्लभ बंदिशों का वादन किया।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

बेखौफ बदमाशों ने दुकान में घुसकर बरसाए ताबड़तोड़ गोलियां-लखनऊ

लखनऊ बेखौफ बदमाशों ने दुकान में घुसकर बरसाए ताबड़तोड़ गोलियां मौके पर ही युवक की …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *