Breaking News
Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / देवकिशन सालवी ने अपनी बुआ की पीहर गोरणी नहीं कर विद्यालय में लगाए 21 पौधे और भेंट किए टेबल स्टूल

देवकिशन सालवी ने अपनी बुआ की पीहर गोरणी नहीं कर विद्यालय में लगाए 21 पौधे और भेंट किए टेबल स्टूल

कांगन। 

  देवकिशन सालवी ने अपनी बुआ की पीहर गोरणी नहीं कर विद्यालय में लगाए 21 पौधे और भेंट किए टेबल स्टूल

(महावीर मेघवंशी।)

स्वामी विवेकानंद राजकीय मॉड़ल स्कूल पोटलां में शिक्षक और आम मेवाड़ सालवी समाज की युवा महासभा के संभागीय अध्यक्ष देवकिशन सालवी और उनके परिवार ने मिलकर मृत्युभोज निवारण अधिनियम 1960 की अनुपालन करते हुए स्वर्गीय बुआ सोसी बाई की की पीहर गोरणी नहीं करके बहन बेटियों को बुलाकर धूप की रस्म अदा की और स्वर्गीय सोसी बाई की पुण्य स्मृति में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय कांगणी के विद्यालय प्रांगण में ट्री गार्ड समेत 11 छायादार पौधे लगाकर उनकी सम्पूर्ण देखरेख का जिम्मा लिया तथा बच्चों के बैठने हेतु दो टेबल एवं स्टूल विद्यालय को भेंट किए।

10 पौधे ट्री गार्ड समेत राजकीय प्राथमिक विद्यालय जंगलिया बस्ती विद्यालय में लगाकर अनूठी पहल की।

देवकिशन सालवी लंबे समय से सोशल मीडिया पर गीत,कविताओं,लेखों और गांव-गांव में जाकर सभाएं आयोजित कर समाज में मृत्युभोज जैसी कुरीति की समाप्ति और इसके दुष्परिणामों के बारे में बताकर जन जागरण का काम कर रहें हैं।

देवकिशन सालवी का कहना है कि जिस घर में किसी परिवार जन की मौत हुई है उस घर में अनेक प्रकार के पकवान बनाकर मृत्युभोज के रूप में दावत देना मानव समाज के लिए एक भयावह अभिशाप है जिसके कारण कितने ही परिवार बर्बाद हो जाते हैं और आर्थिक रुप से कमजोर लोगों को भी कर्ज लेकर समाज के पंच-पटेलों के दबाव में आकर इस रूढिवादी परम्परा का निर्वहन करना पड़ता है जिससे उस परिवार के जर,जेवर,जमीन,मकान और बालकों की शिक्षा दांव पर लग जाते हैं।

इस तरह कुरीतियों पर होने वाले खर्चे का कुछ हिस्सा भी शिक्षा,स्वास्थ्य और परमार्थ के कामों में लगा दें तो लोगों का जीवन स्तर अपने आप सुधर सकता है और दिवंगत आत्मा को निश्चित रूप से शाँति मिलती है।

प्रधानाचार्य महेन्द्र कुमार जैन ने बताया कि देवकिशन बलाई और उसके परिवार की यह पहल समाज को नई दिशा देने वाली है तथा मृत्युभोज की जीमण का पैसा बच्चों की पढा़ई पर खर्च किया जाए तो वो बच्चे आगे चलकर परिवार,समाज,गांव और देश का नाम रोशन करेंगे।

इस दौरान शिक्षक माधवसिंह,फारूक मोहम्मद बहादुर बंजारा,सांवर मल,विभुराज सिंह,कुलदीप,पूरणमल,गोरधन,पारस तथा समाज के प्रेमचंद ,देवीलाल,राकेश सालवी,देवप्रिया,कोमल आदि उपस्थित थे।

Check Also

हाइवे पर गौवंश की सहायता व उपचार के लिए 50 मेडिकल किट का वितरण

हाइवे पर गौवंश की सहायता व उपचार के लिए 50 मेडिकल किट का वितरण शाहपुरा …