Home / उत्तराखंड / चमोली / देश में चल रहे कोरोना अलर्ट और नॉक डाउन का सीधा असर-चमोली

देश में चल रहे कोरोना अलर्ट और नॉक डाउन का सीधा असर-चमोली

रिपोर्ट,, नवीन भंडारी जोशीमठ, 

लोकेशन, जोशीमठ

देश में चल रहे कोरोना अलर्ट और नॉक डाउन का सीधा असर जगत के पालन हार और भू बैकुंठ धाम वासी भगवान श्री हरि नारायण पर भी साफ दिख रहा है,नॉक डाउन के कारण धार्मिक नगरी जोशीमठ में देवस्थानम बोर्ड के नरसिंह बदरी मंदिर सहित नव दुर्गा मंदिर की भोग मंडी में खाद्यान संकट गहराने लगा है,जिसके चलते बदरी विशाल भगवान सहित अन्य देवी-देवताओं को लगने वाले नित्य भोग प्रसाद की किल्लत होने की खबर आने की खबर से नगर वासियों ने चिंता जताई है,स्थानीय देव पुजाई समिति आगे आकर फिल्हाल भगवान श्री नारायण और नव दुर्गा मंदिरों में लगने वाले भोग के लिए चावल देकर मदद कर रही है,बता दें की देवस्थानम बोर्ड के अस्तित्व में आने के बाद जोशीमठ के पौराणिक नरसिंह बदरी मंदिर सहित अन्य मंदिरों की बागडोर BKTC से सीधा देव स्थानम बोर्ड के पास आ गई है,लॉक डाउन एवम् बोर्ड द्वारा मंदिरों के लिए अबतक कोई ठोस व्यवस्ता नही होने से मंदिरों में भगवान के लिए भोग संकट गहराने लगा है,स्थानीय देव पुजाई समिति के दिये चावलों से लग रहा है मंदिरों में भोग,देवस्थान बोर्ड की लापरवाही आई सामने,साफ कह सकते है की भगवान श्री विष्णु सहित माता लक्ष्मी और नव दुर्गा मंदिर में नित्य लगने वाले भोग प्रसाद के लिये खाद्यान की समस्या खड़ी हो गई है,नॉक डाउन के चलते दिन में महज एक एक घण्टे के लिए अभिषेक और भोग हेतु खोले जा रहे मंदिरों में सिर्फ पुजारी द्वारा भगवान का भोग लगाकर मंदिर फिर बंद कर दिया जा रहा है,बड़ी बात ये की देव स्थानम बोर्ड इन मंदिरों के लिए लगने वाले भोग हेतु खाद्यान की व्यवस्था तक करने में सक्षम नही दिखा आखिर देव पुजाई समिति के चावलों से कबतक भगवान नारायण का भोग लगेगा,क्या सरकार की नजर सिर्फ भगवान श्री हरि के खजाने पर है,भगवान को भूखा रख क्या संदेश जायेगा,या यू कहे की 5करोड रुपये के बने मंदिर में भगवान को लगने वाले भोग के चावल दूसरों से मांगने पढ रहे है,दशकों से यहाँ भगवान विष्णु को लगने वाले देनिक भोग सहित नव दुर्गा, वासुदेव मंदिर,लक्ष्मी मंदिर में नित्य करीब 35किलो चावल सहित खिचड़ी प्रसाद और रोंट भोग लगता चला आ रहा है,लेकिन आजकल महज 2से3किलो चावल से ही दो वक़्त जगत के कल्याण और लालन पालन करने वाले भगवान श्री नारायण और अन्य देवी देवताओ को भोग लगाया जा रहा है,देव स्थानम बोर्ड द्वारा मंदिरों में भगवान के भोग के प्रति बरती जा रही लापरवाही के चलते लोगो में नाराजगी है, 

क्या कहते है धर्माधिकारी,,,, भुवन चंद्र उनियाल, (धर्माधिकारी देव स्थानम बोर्ड) 

वही इस प्रकरण पर देवस्थानम बोर्ड एवम् बदरीनाथ मंदिर के धर्माधिकारी आचार्य भुवन चंद्र उनियाल कहते है की नॉक डाउन के चलते अग्रिम आदेशों तक मंदिर की नित्य पूजा अभिशेक का समय बदला है सुबह और शाम दोनो वक़्त मंदिरों में पूजाये और भोग लगाया जा रहा सिर्फ भोग के लिए खाद्यान कम हो रहा था जिसकी पूर्ति देव पुजाई समिति द्वारा की गई है,उक्त समस्या बावत शासन प्रशासन और बोर्ड को भी अवगत करा दिया है, 

क्या कहा देव पुजाई समिति ने,, (उमेश सती देव पुजाई समिति पदाधिकारी) 

इधर देव पुजाई समिति के पदाधिकारी उमेश सती का कहना है की जो भी हो हमारे इन पौराणिक मंदिरों में भगवान की भोग पुजाये नित्य सम्पन्न होगी भोग प्रसाद की कोई कमी नही होने दी जायेगी देव पुजाई समिति इसके लिए तत्पर है,

Check Also

हंस फाउंडेशन दे रहा है जोशीमठ के सभी गांव में अपनी सेवा

हंस फाउंडेशन हेल्प एज संस्था आज से अपनी पूर्ण सेवा जोशीमठ के सभी गांव में …