Home / राजस्थान / करौली / नगर परिषद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती

नगर परिषद में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती

हिंडौन सिटी। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती आज नगर परिषद परिसर में समारोह पूर्वक मनाई गई।

कार्यक्रम संयोजक तथा महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति से जुड़े हुए उपसभापति नफीस अहमद ने बताया कि आज सुबह 8:30 बजे नगर परिषद प्रांगण में स्थित गांधी प्रतिमा पर सूत की माला और पुष्पांजलि के साथ कार्यक्रम की शुरुआत हुई।

उसके बाद सर्व धर्म प्रार्थना पंडित संजय कुमार, हाफिज सईद अहमद तथा सरदार जोगिंदर सिंह ने की। इस बीच बापू के प्रिय भजन माइक पर बजते रहे।

इस अवसर पर महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति की ओर से "गांधी अतीत नहीं भविष्य भी है" विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए उप जिला कलेक्टर श्री सुरेश बुनकर ने कहा कि गांधी के विचार हमेशा प्रासंगिक रहेंगे। आज पूरे विश्व में फैली हुई अशांति को दूर करने के लिए गांधी के सिद्धांतों पर चलने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि गांधी का विरोध हो सकता है लेकिन गांधीवाद का विरोध कोई नहीं कर सकता क्योंकि गांधी एक विचार है।गांधी एक दर्शन है। उन्होंने देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उन्होंने जय जवान जय किसान का नारा देकर देश के किसानों की हालत को मजबूत किया था।

तहसीलदार श्री राम खिलाड़ी मीणा ने विचार गोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि केवल जयंती और पुण्यतिथि के दिन महापुरुषों को याद करने से नहीं उनके सिद्धांतों पर अमल करने से उनको सही श्रद्धांजलि अर्पित की जा सकती है। उन्होंने उपस्थित जनों से स्वदेशी अपनाने का आव्हान किया।

शिक्षाविद छगनलाल गुप्ता जी ने कहा कि गांधी ने देश की आजादी के लिए सूट बूट और ऐशो आराम की जिंदगी का त्याग करके देश के लिए अद्वितीय योगदान दिया है । जिसके लिए देश हमेशा उनका ऋणी रहेगा।

पार्षद गोपेंद्र सिंह पावटा ने कहा कि सबसे पहले नेताजी सुभाष चंद्र बोस और सरोजिनी नायडू ने बापू को राष्ट्रपिता कह कर संबोधित किया था।

किसान नेता भगत सिंह डागुर ने

गांधी के अहिंसा के सिद्धांत को आज के युग के लिए बहुत कारगर हथियार बताया तथा शास्त्री जी को किसानों का मसीहा बताते हुए कहा कि देश के लिए विदेशों से अनाज मंगाया जाता था लेकिन शास्त्री जी के प्रयासों से आज देश खाद्यान्न के क्षेत्र में आत्मनिर्भर है।

विचार दोस्ती को शिक्षाविद तिमन सिंह श्रीमती प्रतिभा शर्मा श्रीमती सीमा जादौन श्रीमती नीलम सोबती राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त पूरणमल जाटव आदि ने भी संबोधित किया और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए उपस्थित जनों से उनके सिद्धांतों पर चलने का आह्वान किया।

इस अवसर पर गांधी अकैडमी स्कूल के निदेशक वीरेंद्र चौधरी विद्यार्थियों की रैली लेकर जब नगर परिषद प्रांगण में पहुंचे तो बच्चों के नारों से आकाश गुंजायमान हो गया।

कार्यक्रम में अभय विद्या मंदिर के बच्चों ने गांधी और शास्त्री की सजीव झांकी प्रस्तुत की।

कार्यक्रम के अंत में नगर परिषद के आयुक्त प्रेम राज मीणा ने गांधी जी की 150वीं जयंती के अवसर पर सभी को बधाई दी और अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

कार्यक्रम में मुकेश सरपंच संतराम जाटव सुरेश करसोलिया इमरान सैफी बासित खान राजेश ले कोरिया वीरेंद्र बाबू हरिमोहन गुप्ता रफीक खान ओम प्रकाश जुगनू सहित शहर के गांधीवादी लोग तथा सैकड़ों की संख्या में विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थी मौजूद रहे।

कार्यक्रम की समाप्ति के बाद स्वच्छता तथा प्लास्टिक का उपयोग बंद करने के लिए जागरूकता रैली को उप जिला कलेक्टर द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

बाजारों में भीड़, कैसे हारेगा कोरोना

देवउठनी एकादशी के कारण इस समय बाजारों में जबरदस्त भीड़ उमड़ रही है। लोग बाजारों …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *