Home / उत्तर प्रदेश / कुशीनगर / नेबुआ नौरंगिया क्षेत्र के टेढ़ी में ग्राम प्रधान सिक्रेटरी एडीओ पंचायत डिपीआरो खा गयें शौचालय के पैसे दो शाल से आधा अधुरा पड़ा शौचालय
नेबुआ नौरंगिया क्षेत्र के टेढ़ी में ग्राम प्रधान सिक्रेटरी एडीओ पंचायत डिपीआरो खा गयें शौचालय के पैसे दो शाल से आधा अधुरा पड़ा शौचालय

नेबुआ नौरंगिया क्षेत्र के टेढ़ी में ग्राम प्रधान सिक्रेटरी एडीओ पंचायत डिपीआरो खा गयें शौचालय के पैसे दो शाल से आधा अधुरा पड़ा शौचालय

कुशीनगर(उ०प्र०);केन्द्र सरकार स्वच्छ भारत मिशन को लेकर प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में एक अभियान ही चलाया गया जिसके तहत गांवो में अरबो रूपये खर्चा कर शौचालय निर्माण कराकर गांव को शौच मुक्त का दावा कर ओडीएफ घोषित कर दिया गया …..लेकिन ओडीएफ का दावा सिर्फ कागजी आकड़ो तक ही सीमट कर रह गयी हैं जमीनी धरातल पर जब देखा जाय तो यह योजना पुरी तरह दम तोड़ती नजर आ रही सरकार के दावे व जमीनी धरातल की तस्वीरे साफ तौर से योजना की तस्वीर बया कर रही जिस गांव में महिलाओं नें शौचालय के लिए अपनें गहनें तक बेच कर ग्राम प्रधान को दे दियें लेकिन उनके गहनें उनका लाज न बचा सकी आज वह शौच के लिए बाहर खेतो में सड़को पर जानें को मजबुर हैं लेकिन जिम्मेदार केवल अपनें जिम्मेदारी यो से पल्ला झाड़ कागजी आकड़ो में ही शौचालय निर्माण कर गांव को शौच मुक्त कर दिया और कागजी आकड़ो के अधार पर प्रधानमंत्री नें देश को ओडिएफ घोषित कर दिया यह तस्वीरे जनपद के हर एक गांव की हैं जब मिडिया टीम नें जमीनी धरातल की पड़ताल की तो तस्वीरों और महिलाओं के दर्द छलक उठें किस तरह शौचालय के लिए गहनें तक बेच दियें लेकिन एक शाल हो गयें शौचालय पुर्ण न हो सकें ……..कुशीनगर जनपद के नौरंगिया नौरंगिया ब्लॉक के टेढ़ी गांव में स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनें शौचालय निर्माण की यह तस्वीरें चिख चिख कर चिल्ला रही हैं कि कैसे शौचालय निर्माण में सिर्फ कागजी खानापूर्ति कर गांव को ओडीएफ घोषित कर दिया गया आधे अधूरे शौचालय के बने 1 साल हो गए लेकिन अभी तक पूर्ण नहीं हुए इस पर न तो किसी अधिकारियों की नजर पड़ी और ना ही किसी जनप्रतिनिधि की घर घर शौचालय का निर्माण के नाम पर लगभग पचासों लाख रुपयें इस गांव सरकार का खर्च हो गया लेकिन शौचालयों की दशा जस की तस बनी हुई हैं ….शौचालय न होनें सें गांव की महिलाएं खुले मे ही शौच करती हैं तो उनको इस बात का मलाल रहता हैं की सरकार शौचालय निर्माण में पानी की तरह पैसा बहाया लेकिन फिर भी हम लोगो को बाहर शौच के लियें जाना पड़ता जिससे शर्म से सिर झुका रहता ग्राम प्रधान सेक्रेटरी व एडिओ पंचायत की मिली भगत से गांव में आयें शौचालय के पैसे का जम कर बंदरबांट हुआ हैं जिस पर गांव की महिलाएं अधीकारियो से शिकायत करतें थक चुकी हैं वही महिलाओं का आरोप हैं की गहनें बेच कर ग्राम प्रधान को पैसे दियें शौचालय व प्रधानमंत्री अवास के लिए लेकिन तीन वर्ष हो गयें आज तक न तो अवास बना न ही शौचालय …….वही जिम्मेदार अधीकारी सिर्फ कागजी आकड़ो तक विकास कार्यो का लेखा जोखा रखनें में ब्यस्त हैं जमीनी धरातल पर विकास कार्यो से उनको कुछ लेना देना नही हैं….विकास कार्यो का समीक्षा वैठक करनें आयें जनपद के प्रभारी मंत्री से भाजपा नेताओ नें अवास और शौचालय के नाम पैसा लेनें की भी शिकायत कर जिम्मेदारो पर कार्यवाही की मांग की …..जिस पर मंत्री नें अधीकारियो की जम कर क्लास लगाई .. …… अब देखना यह है शौचालयों का काम कब तक पूरा होता है या भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ अपनी बदहाली पर आंसू बहाता रहता ….शौचालय आधे अधुरे रहनें से गांव की महिलाए खुले में शौच करनें को मजबुर हैं…. वही इस पुरे मामलें पर जिम्मेदार केवल कागजी कार्यवाही करनें की बात कर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ते नजर आ रहें….जब ग्रामिण शिकायत करते थक गये तो ग्राम पंचायत सदस्यो नें नोटरी के साथ जिलाधिकारी कार्यालय पहुच शिकायती पत्र सौप भ्रष्ट्र एडिओ पंचायत सिक्रटरी व डिपीआरो के खिलाफ जांच कर सरकारी धन का दुरूपयोग करनें वालें भ्रष्टाचारीयो के खिलाफ कार्यवाही की मांग की

अबुलैस अंसारी ब्यूरो चीफ कुशीनगर

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

लॉक डाउन:को लेकर लोगों को घरों में रहने के लिये पुलिस प्रशासन का निर्देश-कुशीनगर

कुशीनगर उत्तर प्रदेश  लॉक डाउन:को लेकर लोगों को घरों में रहने के लिये पुलिस …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *