Breaking News
Home / राजस्थान / सवाई माधोपुर / परमाणु सहेली ने स्यारोली, छकड़ा, खातीपुरा ग्रामों का दौरा किया

परमाणु सहेली ने स्यारोली, छकड़ा, खातीपुरा ग्रामों का दौरा किया

प्रेस न्यूज नॉट 

भारत की परमाणु सहेली डॉ. नीलम गोयल ने अपने प्रोग्राम सलाहकार विप्रा गोयल (आईआईटी, खड़गपुर) के साथ सायरोली ग्राम का दौरा किया। डॉ. नीलम गोयल जोकि एपएफ एनजीओ की अध्यक्षा भी हैं, प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर वाटरशेड के विकास, चरागाह भूमि के विकास, बायोगैस-डेयरी कॉम्बो प्लांट्स की स्थापना एवं पर्माकल्चर के विकास एक पैकेज के रूप में लेकर कार्य करने के लिए दृढ संकल्प हैं।

परमाणु सहेली ने स्यारोली, छकड़ा, खातीपुरा ग्रामों का दौरा किया और उक्त कार्यों के सन्दर्भ में जिला सवाईमाधोपुर मजिस्ट्रेट को अपनी फीडबैक रिपोर्ट प्रस्तुत की। ग्राम पंचायत स्तर पर इस प्रकार के पॅकेज की पूर्ण सफलता से न केवल क्षेत्रीय स्तर पर वाटरशेड के मार्फ़त वर्षा जल का संरक्षण होने से क्षेत्र में बारोमासा पानी की सतत व्यवस्था हो सकेगी, हर वर्ष वर्षा चक्र का उत्थान होगा, कृषि पैदावार में मात्रात्मक व गुणवक्ता बढ़ोतरी होगी, कृषक परिवारों की चहुँतरफा समृद्धि बढ़ेगी, मवेशियाँ भी आय में महत्वपूर्ण रूप से सहायक सिद्ध होंगी। क्षेत्रीय जरूरतमंद वयस्कों को जीविकोपार्जन के साधन उपलब्ध होंगे। 

परमाणु सहेली ने गंगापुर के जेईएन एवं अपने प्रोग्राम व तकनीकी सलाहकार विप्र गोयल (आईआईटी, खड़गपुर) के साथ सवाईमाधोपुर की ग्राम पंचायत सायरोली के छकड़ा, खातीपुरा और खुद सायरोली ग्राम का फील्ड दौरा किया है। यहाँ के क्षेत्रीय कृषक व मवेशी पालकों के साथ मुलाकातें की हैं। सायरोली के छकड़ा ग्राम में वाटरशेड व चरागाहों के विकास कार्यों की अपने संस्थान की तरफ से तैयार एक डीपीआर भी प्रस्तुत की है। इन्होने अपने इस जमीनी स्तर की प्री- एक्टीविटी से यह भी पाया है कि उपरोक्त कार्यों को कम्युनिटी को साथ लेकर करवाया जा सकेगा, लेकिन इससे पहले इस क्षेत्र में जमीनी स्तर पर रणनीतिबद्ध अवेयरनेस कार्य सबसे प्रमुख प्रारम्भ है।   

जिला प्रशासन भी इस बात को मानता है कि एक पुख्ता अवेयरनेस के माध्यम से क्षेत्रीय समुदायों को उक्त कार्यों में इन्वॉल्व किया जाता है तो लागत तो अपेक्षाकृत कम आएगी ही, साथ ही, शासन-प्रशासन-जनता के बीच आपसी विश्वास व जिम्मेदारियों का सकारात्मक वातावरण भी स्थापित होगा। सवाई माधोपुर जिला प्रशासन भारत की परमाणु सहेली के प्रयासों, कार्यनीति एवं गुणवत्ता से प्रभावित है और आने वाले समय में किये जाने वाले कार्यों हेतु इनके संस्थान व सलाहकार के साथ विश्वास भी जताता है।

Check Also

सवाई माधोपुर -नगर परिषद गंगापुर सिटी में गंदगी और कचरा बना लोगों की मुसीबत

सवाई माधोपुर- उपखंड गंगापुर सिटी में नगर परिषद इन दिनों पूर्णतः निष्क्रिय और लापरवाह नजर …