Breaking News
Home / राजस्थान / सवाई माधोपुर / परिवार कल्याण कार्यक्रम की समीक्षा सवाई माधोपुर
सवाईमाधोपुर नगर परिषद कोरोना जागरूकता के लिए कर रही अभिनव प्रयास
सवाईमाधोपुर नगर परिषद कोरोना जागरूकता के लिए कर रही अभिनव प्रयास

परिवार कल्याण कार्यक्रम की समीक्षा सवाई माधोपुर

राज्य स्तर के निर्देशानुसार प्रदेश के सभी जिलों में माह के तीसरे सोमवार को वीसी के माध्यम से परिवार कल्याण कार्यक्रम की समीक्षा की जाएगी। इसी क्रम में 21 सितम्बर को तीसरा सोमवार होने के कारण जिला स्तर से वीसी का आयोजन किया गया।

वीसी में परिवार कल्याण कार्यक्रम की जिले में वर्तमान स्थिति, कार्यक्रमों के लक्ष्यों की प्राप्ति, केसों की संख्या, एफडीएस, अंतरा इंजेक्टेबल की डोज, अंतरा राज पर अपडेट, सास बहू सम्मेलन, पीपीआईयूसीडी आदि के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। साथ ही कार्यक्रम के लक्ष्यों को पाने में जो भी गैप आ रहे हैं उन्हें दूर करने के प्रयासों के बारे में निर्देश दिए गए। अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ कैलाश सोनी ने जिले के सभी ब्लाॅको व चिकित्सा संस्थानों की प्रगति की विस्तारपूर्वक समीक्षा करते हुए संस्थानों के संबंधित क्षेत्र में पिछडने के कारण पर मंथन कर उन्हें सुधार करने के निर्देश दिए।

संस्थानों में परिवार कल्याण साधनों के स्टाॅक आउट स्टेटस, एफपीएलएमआईएस पर उसकी एंट्री, इंडेंट व इंडेंट के माध्यम से सप्लाई प्राप्त करने के लिए निर्देश दिए गए। डाॅ सोनी ने वीसी में अनुपस्थित कार्मिकों व कार्यक्रम में कम प्रगति प्राप्त करने वाले कार्मिकों को नोटिस देने के निर्देश दिए। साथ ही अंतरा इंजेक्टेबल्स के डोज लगाने व उनकी अंतरा राज पर एंट्री करने के निर्देश दिए गए। विभाग द्वारा संचालित किए जा रहे सास बहू सम्मेलन की भी ब्लाॅक वार समीक्षा की गई। जिन भी स्थानों पर सास बहू सम्मेलन की रिपोेर्टिंग व लाइन लिस्ट नहीं की जा रही है उन्हें समय पर रिपोर्टिंग करने के लिए पाबंद किया गया।

वीसी में जिला कार्यक्रम प्रबंधक, यूएनएफपीए कंसल्टेंट आदित्य तोमर, यूपीएम विनोद शर्मा, जिला आईईसी समन्वयक प्रियंका दीक्षित व सभी ब्लाॅकों पर अपने संबंधित ब्लाॅक पर बीसीएमओ, समस्त चिकित्सा अधिकारी प्रभारी, बीपीएम, ब्लाॅक आशा फेसिलिटेटर, पीएचसी आशा सुपरवाइजर मौजूद रहे।

Check Also

परामर्श की आड़ नही करेंगे विद्यालय संचालित सवाई माधोपुर

जिले के बहरावण्डा खुर्द में आसपास के गांवों में संचालित निजी विद्यालयों के संस्था प्रधानों …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *