Home / उत्तराखंड / चमोली / पर्यटन नगरी जोशीमठ में नगर पालिका द्वारा किया जा रहा है कीटनाशक दवाई का छिड़काव

पर्यटन नगरी जोशीमठ में नगर पालिका द्वारा किया जा रहा है कीटनाशक दवाई का छिड़काव

जोशीमठ"""””””’— पर्यटन नगरी जोशीमठ में नगर पालिका द्वारा पूरे नगर को कीटनाशक दवाई का प्रयोग किया जा रहा है भारत का अंतिम नगर पालिका क्षेत्र जोशीमठ जहां पर पूरे स्वच्छ सफाई का ख्याल रखा जा रहा है जिससे स्थानीय लोगों के चेहरे पर काफी खुशी नजर आ रही है मास्क और सैनिटाइजर भी वितरण किए जा रहे हैं बात करेंगे नगरपालिका क्षेत्र की काफी अच्छी सफाई देखने को मिल रही है जोशीमठ नगर पालिका क्षेत्र में लगातार साफ-सफाई का ख्याल रखा जा रहा है पूरे नगर को दवाइयों से छिड़काव किया जा रहा है पर्यावरण मित्र अपनी सेवाएं लगातार दे रहे हैं जोशीमठ के नगर पालिका अध्यक्ष शैलेंद्र सिंह पवार जी का कहना है कि हम अपने पूरे क्षेत्र में दवाई का छिड़काव और साथ में सैनिटाइजर और मास्क भी वितरण कर रहे हैं और साथ में यह कहा कि हमसे जो पड़ेगा हम पूरी तरह से जोशीमठ की जनता की पूरी सेवा करेंगे कोरोना जैसी महामारी बीमारी से सतर्क हो चुकी है जोशीमठ की जनता पूरा नियमों का पालन हो रहा है नगरपालिका का सहयोग मिल रहा है नगरपालिका के जितने भी क्षेत्र पढ़ते हैं उन क्षेत्रों में जाकर के हर दिन सफाई की जा रही है वैसे तो भारत का अंतिम नगर पालिका जोशीमठ मैं सभी प्रकार की व्यवस्था ही देखने को मिल सकती है कहीं पर भी गंदगी का अंबार नहीं नजर नहीं आ सकता है पूरे नगर को स्वच्छ रखा जा रहा है बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ है और साथ में जो गांव नगर पालिका क्षेत्र में नहीं आते हैं तो उन गांव में ग्रामीण अपने खर्चे से दवाइयों का छिड़काव भी करते हुए नजर आए कहीं गांव वालों का यह भी कहना है कि अभी तक हमें सरकार ने कुछ भी दवाई या मास्क और साथ में सैनिटाइजर की व्यवस्था नहीं की गई है जिससे स्थानीय लोगों के चेहरे पर नाराजगी नजर आई जोशीमठ से 7 किलोमीटर आगे 1 गांव पड़ता है जिसका नाम बड़ा गांव है वहां पर तो स्थानीय लोगों ने अपने ही पैसों से पूरे गांव में कीटनाशक दवाई का छिड़काव करते हुए नजर आए और साथ में कई गांव ऐसे हैं जो जिन गांव में अभी तक कीटनाशक दवाई का प्रयोग नहीं किया गया नहीं उन गांव में सैनिटाइजर जैसी मास्क कुछ भी चीज उपलब्ध नहीं किया गया जोशीमठ से देखिए नवीन भंडारी की एक रिपोर्ट

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

हंस फाउंडेशन दे रहा है जोशीमठ के सभी गांव में अपनी सेवा

हंस फाउंडेशन हेल्प एज संस्था आज से अपनी पूर्ण सेवा जोशीमठ के सभी गांव में …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *