Home / उत्तर प्रदेश / हापुड़ / प्रशासनिक देखरेख में परिवहन व्यवस्था-हापुड़

प्रशासनिक देखरेख में परिवहन व्यवस्था-हापुड़

 प्रशासनिक देखरेख में परिवहन व्यवस्था ।

 उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ में लोक डाउन के दौरान। दूरदराज एवं अन्य प्रदेशों से पैदल अपने गंतव्य तक जाने वाले यात्रियों की सुविधा के लिए। उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश निर्देश पर। प्रशासनिक देखरेख में परिवहन व्यवस्था उपलब्ध कराई गई है।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने से रोकने के लिए। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संपूर्ण देश को लॉक डाउन कर दिया गया। जिसके बाद जहा सभी परिवहन व्यवस्था बंद हो गई। तो रेलवे ने भी अपनी सेवाएं बंद कर दी। ऐसी स्थिति में अपने निवास स्थान से अन्य स्थानों पर जाकर कार्य करने वाले। अथवा आवश्यक काम से बाहर होने वाले लोग रास्तों में फंस गए। जहां कुछ स्थानों पर उनके ऊपर कुछ पुलिसकर्मियों द्वारा। मारपीट करने की शिकायतें भी लगातार सामने आ रही थी। 

इसी को दृष्टिगत रखते हुए उत्तर प्रदेश शासन के आदेश निर्देश पर। जनपद हापुड़ की जिलाधिकारी अदिति सिंह द्वारा। हापुड परिवहन डिपो से बसे उपलब्ध कराते हुए यात्रियों को अपने गंतव्य के लिए रवाना कराया गया। 

इस दौरान परिवहन डिपो द्वारा बसों को पूर्ण स्वच्छता प्रदान करते हुए। पूर्ण रूप से सैनिटाइज करते हुए जिला प्रशासन को उपलब्ध कराया गया। तो वही जिला प्रशासन द्वारा भी सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखते हुए। बसों से रास्ते में फंसे लोगों को अपने गंतव्य के लिए रवाना कराया गया।

सड़कों पर पैदल अपने गंतव्य को जाने वाले यात्रियों को। जहां जिला प्रशासन द्वारा बस उपलब्ध कराई गई। तो वही जगह-जगह पुलिस प्रशासन द्वारा भोजन आदि की व्यवस्था भी कराई गई। सड़कों से पैदल अपने गंतव्य जाने एवं प्रशासन द्वारा बस उपलब्ध कराए जाने की सूचना पर। सामाजिक संस्थाएं एवं सामाजिक लोग भी पूरी आस्था व निष्ठा के साथ सड़कों पर निकल पड़े। इस दौरान कहीं सामाजिक लोगों द्वारा चावल का वितरण किया गया। तो कहीं खाने के पैकेट और नमकीन बिस्किट इत्यादि का। इस व्यवस्था के बीच दमकल विभाग भी मानवता के तहत अपने कदम पीछे ना रख सका। और हापुड़ दमकल विभाग द्वारा आपसी सामंजस्य के साथ धन एकत्रित करते हुए। सड़कों पर पैदल एवं बसो से सवार होकर। गंतव्य के लिए जाने वाले लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया।

इस अवसर पर देखने वाली बात यह है कि। जहां कई दिनों से लॉक डाउन चल रहा था। तो वही अपने घरों तक पहुंचने की जद्दोजहद में पैदल ही अपने घरों के लिए निकले। लोगो को कई के दिन से भोजन तक नहीं मिला। जनपद हापुड में पहुंचकर जहां लोग हापुड़ वासियों के लिए दुआएं देते नजर आए। तो वही जिला प्रशासन के साथ-साथ पुलिस प्रशासन को भी दुआएं देते नजर आए। छोटे-छोटे बच्चे जो सैकड़ों मील से चलकर। पैदल ही अपने गंतव्य की तरफ जा रहे थे। भोजन पाकर प्रसन्नचित दिखाई दिए।

इस संबंध में जब उप जिलाधिकारी हापुड से बात की गई। तो उन्होंने सिर्फ मानवता की बात करते हुए शासन के आदेश निर्देश पर। सड़कों पर पैदल ही अपने गंतव्य के लिए निकले लोगो को। वाहन एवं भोजन उपलब्ध कराए जाने की बात कही। साथ ही उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि। लोग अति शीघ्र अपने घरों पर पहुंच जाएं। तथा सोशल डिस्टेंस एवं कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के। तमाम उपाय करते हुए खुद के जीवन के साथ-साथ। अपने परिवार,प्रदेश एवं देश से संक्रमण को भगाने में। सहयोग प्रदान करते हुए सहभागी बने।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

जनपद हापुड़ में लोकडाउन-5.0 में सुरु हुई बस सेवा-हापुड

रिपोर्ट – अनिल कश्यप लोकडाउन-5.0 में केंद्र सरकार के बस सेवा शुरू करने के निर्णय …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *