Breaking News
Home / राजस्थान / जोधपुर / प्रोफेसर के.एल. रैगर ने संभाला अधिष्ठाता कला संकाय का पद भार जोधपुर

प्रोफेसर के.एल. रैगर ने संभाला अधिष्ठाता कला संकाय का पद भार जोधपुर

जोधपुर,जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय जोधपुर के कला, शिक्षा एवं समाज विज्ञान संकाय के अधिष्ठाता पद पर आज अपराह्न में हिंदी विभाग के प्रोफेसर डॉ. किशोरी लाल रैगर ने निवर्तमान अधिष्ठाता प्रोफेसर एसपी दुबे के सेवानिवृत्त हो जाने पर उनसे पदभार संभाल लिया है। प्रोफेसर रैगर ने इस दायित्व के लिए कुलपति का आभार प्रकट किया है। प्रोफेसर रैगर हिंदी के जाने-माने आलोचक एवं दलित चिंतक के रूप में प्रतिष्ठित हैं। उनकी कई पुस्तकें तथा दर्जनों शोध आलेख प्रकाशित हैं। उनके निर्देशन में अब तक 25 शोधार्थी पी-एच.डी.की उपाधि प्राप्त कर चुके हैं तथा 10 शोधार्थी कार्यरत हैं। वे यूजीसी की महती योजना ईपीजी पाठशाला से जुड़े रहे हैं। ये पत्रकारिता में गोल्ड मेडल प्राप्त हैं। वर्तमान में प्रो.रैगर जनसंपर्क अधिकारी का अतिरिक्त कार्य भी देख रहे हैं तथा विश्वविद्यालय की कई वैधानिक समितियों के सदस्य/ संयोजक भी हैं।
संकाय में इनकी प्राथमिकताओं में कोरोना संक्रमण से बचते हुए कक्षाओं का नियमित संचालन व ई कंटेंट के माध्यम से विद्यार्थियों को लाभान्वित करना है साथ ही संकाय के विभिन्न विभागाध्यक्षों से समन्वय स्थापित कर नवाचार के लिए कार्य करना है। संकाय स्तर की हर समस्याओं के समाधान के लिए भरसक प्रयास कर छात्रों के साथ समन्वय बैठाना है। परिसर को स्वच्छ रखने के साथ पाठ्येतर गतिविधियों का संचालन भी करना है। इस दौरान कोरोना के कारण सामाजिक दूरी का समुचित पालन करते हुए एक के बाद एक,कई विभागाध्यक्षों, शिक्षकों,कर्मचारियों,शोधार्थियों एवं छात्रों ने अपनी शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर प्रोफेसर एस. के मीना,प्रोफेसर सत्यप्रकाश दुबे,प्रोफेसर जनक सिंह मीना, प्रोफेसर कैलाश कौशल,डॉ.जनक सिंह मीना,डॉ.कुलदीप सिंह मीणा,डॉ.प्रवीण चंद,डॉ.देवकरण,फताराम,डॉ.आर. डी.सागर,डॉ.डी सी मीना आदि थे।
प्रोफेसर (डॉ.) किशोरीलाल जयपुर जिले के माझीपुरा गाँव के निवासी है।

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=288070079223231&id=109511257079115

Check Also

प्रोफेसर मीना बने सायंकालीन अध्ययन संस्थान के निदेशक जोधपुर

जोधपु जिले के अजनोटी गांव के मूल निवासी प्रोफेसर (डॉ.) एस.के. मीना जय नारायण व्यास …