Home / उत्तर प्रदेश / बदायूँ / बदायूं भ्रष्टाचार में लिप्त कार्यालय पर हुआ राष्ट्र राग का कीर्तन – बदायूं

बदायूं भ्रष्टाचार में लिप्त कार्यालय पर हुआ राष्ट्र राग का कीर्तन – बदायूं

बदायूं भ्रष्टाचार में लिप्त कार्यालय पर हुआ राष्ट्र राग का कीर्तन।

जनपद बदायूं को देश का प्रथम भ्रष्टाचार मुक्त जनपद बनाने का संकल्प दोहराया।

रिश्वतखोर, कमीशनखोर, मिलावटखोर छोड़ दें जनपद ।

सूचना कार्यकर्ताओं की सुरक्षा की भी उठी मांग।

  जनपद बदायूं को भ्रष्टाचार मुक्त करने की मांग को लेकर, नववर्ष की शुभकामनाओं सहित पत्र राज्यपाल व मुख्यमंत्री को प्रेषित करेंगे सूचना कार्यकर्ता।

भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के तत्वावधान में जनपद बदायूं को देश का प्रथम भ्रष्टाचार मुक्त जनपद बनाने हेतु जनोपयोगी कानूनों सूचना का अधिकार, जनहित गारंटी कानून,नियम 24 एवं पंचायत राज व्यवस्था को प्रभावी बनाने, सहकारिता, चिकित्सा व ग्राम विकास/पंचायत राज विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार को रोकें जाने तथा मांस मछली के अवैध कारोबार को बन्द कर तहसील भवन बदायूं के बराबर में संचालित मछली बाजार को बन्द किए जाने की मांग को लेकर पूर्व घोषित कार्यक्रमानुसार मालवीय आवास गृह बदायूं पर अभियान के मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड़ एडवोकेट के नेतृत्व मे अभियान के सहयोगी भीषण ठंड के पश्चात भी बड़ी संख्या में जुटे।

भ्रष्ट तत्वों को सद्बुद्धि प्रदान करने की प्रार्थना के साथ 11बजे से 12 बजे तक राष्ट्र राग "" रघुपति राघव राजाराम………"" का कीर्तन किया गया तदन्तर नगर मजिस्ट्रेट बदायूं कीर्तन स्थल पर पहुंचे तथा राज्यपाल को संबोधित छः सूत्रीय ज्ञापन प्राप्त किया।

इस अवसर पर विचार व्यक्त करते हुए भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के मार्गदर्शक सेवानिवृत्त एस डी ओ सुरेश चंद्र गुप्ता ने कहा कि जनपद बदायूं में भ्रष्टाचार चरम पर है, सरकारी कार्यालयों में बिना रिश्वत के कोई कार्य नहीं होते हैं,आम नागरिकों को रिश्वत देने को विवश किया जाता है।

अभियान के मार्गदर्शक डाल भगवान सिंह ने कहा कि रिश्वतखोर, कमीशनखोर एवं मिलावटखोर जनपद बदायूं को छोड़ दें । भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान द्वारा गुड गवर्नेंस की स्थापना हेतु जनोपयोगी कानूनों को प्रभावी बनाने हेतु चलाये जा रहे अभियान के कुछ बिन्दुओं पर सरकार भी निर्णय लेने को विवस हुईं है।

अभियान के मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड़ एडवोकेट ने कहा कि आज जिन छह मुद्दों को लेकर राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया है,इन मुद्दों पर वर्ष भर सत्याग्रह के कार्यक्रम किए गए। अगस्त माह में उपजिलाधिकारियों के कार्यालयों पर भी सत्याग्रह किया गया,दो नवंबर को जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया,इक्कीस दिसंबर को सभी ब्लाक मुख्यालयों पर राष्ट्र राग के कार्यक्रम आयोजित किए गए, किन्तु भ्रष्ट तत्व बाधा बने हुए हैं। इस कारण आज जिला मुख्यालय पर सत्याग्रह करके हमने राज्यपाल को छह सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से प्रेषित किया है। नये साल में चिकित्सा, सहकारिता एवं ग्राम विकास/पंचायत राज विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार के विरुद्ध सन्घर्ष किया जायेगा।

श्री राठोड़ ने कहा कि कुछ भ्रष्ट तत्वों द्वारा सूचना कार्यकर्त्ताओं के साथ अभद्रता की गई है। शासन ने सूचना कार्यकर्ताओं की सुरक्षा हेतु शासनादेश भी जारी किया है।जगत के ब्लाक समन्वयक महेश चंद्र के साथ ग्राम प्रधान और उसके सहयोगी के द्वारा धमकी दी गई है,इस सम्बन्ध में हमने जिलाधिकारी को पत्र सौंपा है, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से भी मिलेंगे, सूचना कार्यकर्त्ताओं के मान सम्मान के साथ कोई समझौता नहीं किया जायेगा

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से एम एल गुप्ता,राम रतन सिंह पटेल, सुरेश पाल सिंह, जयकिशन लाल शर्मा, रामगोपाल,शमसुल हसन,एम एच कादरी, राम-लखन, असद अहमद,अभय माहेश्वरी, अखिलेश सोलंकी,आर्येन्द्र पाल सिंह,नारद सिंह, अरविंद कुमार, सुमित कुमार, वीरपाल, नेत्रपाल,भानु प्रताप सिंह, महावीर सिंह,बदन सिंह,रिन्कू पाल, रामस्वरूप, सुभाष सिंह, अमित शर्मा,सन्जय शर्मा, सुनील कुमार, सत्यवीर, अनुराग,मुनेश, दिनेश, मोहित,भूप सिंह, देवेन्द्र शाक्य, उदयभान सिंह, जुल्फिकार अहमद, ज्ञानेंद्र सिंह,सौरभ गुप्ता, धर्म पाल, टीकम सिंह, सोमवीर सिंह आदि उपस्थित रहे।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

बदायूं जिलाधिकारी द्वारा राजकीय मेडिकल कॉलेज बदायूं का निरीक्षण किया गया

बदायूं जिलाधिकारी द्वारा राजकीय मेडिकल कॉलेज बदायूं का निरीक्षण किया गया जिलाधिकारी कुमार …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *