Home / राजस्थान / सवाई माधोपुर / बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए पहल

बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए पहल

बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए पहल

सुरक्षित बचपन अभियान

सवाई माधोपुर 16 नवम्बर। राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की पहल पर बाल संरक्षण इकाई के तत्वावधान में सुरक्षित बचपन अभियान, हमारा प्रण सुरक्षित बचपन कार्यषाला का आयोजन राजीव गांधी क्षेत्रीय म्यूजियम के ऑडिटोरियम में हुआ।

बाल सप्ताह के तहत शनिवार को आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राजस्थान राज्य बाल संरक्षण आयोग के सदस्य शैलेन्द्र पांडे एवं विजेन्द्र सिंह थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला कलेक्टर डॉ. एस.पी.सिंह ने की। विषिष्ट अतिथि के रूप में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्र यादव, जिला षिक्षा अधिकारी रामखिलाडी बैरवा, म्यूजियम के निदेषक एवं वैज्ञानिक युनूस खान, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष राकेष सोनी एवं सदस्य उपस्थित थे।

बाल अधिकारिता विभाग की सहायक निदेषक श्रद्धा गौत्तम ने बताया कि सवाई माधोपुर राज्य का पहला जिला है जहां से सुरक्षित बचपन अभियान की शुरुआत की गई है।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बाल संरक्षण आयोग के सदस्य शैलेन्द्र पांडे ने कहा कि बच्चों को सहभागिता का अधिकार मिले, इसके लिए अभिभावक अपने बच्चों को मित्र के रूप में व्यवहार करते हुए समय दे, जिससे बच्चे अपनी बात एवं परेषानी उनके साथ साझा कर सके। उन्होंने कहा कि इसके लिए बालकों को मंच एवं विष्वास मिलना चाहिए।

कार्यषाला में आयोग के दूसरे सदस्य विजेन्द्र सिंह ने चाइल्ड फ्रेन्डली जिला बनाने के लिए जागरूकता पर जोर दिया। उन्होंने बच्चों को गुड टच, बेड टच के बारे में बताने तथा किसी प्रकार का शोषण होने या बच्चे के मुसीबत में होने पर टोल फ्री नंबर 1098 पर सूचना देने की बात कही। 

कार्यषाला में जिला कलेक्टर डॉ एस.पी.सिंह ने बाल सुरक्षा सैनिक बनने के लिए उपस्थित सभी लोगों, अधिकारियों एवं बालकों को शपथ दिलाई। इस मौके पर कलेक्टर डॉ. सिंह ने कहा कि बाल श्रम, बाल भिक्षावृत्ति, बाल विवाह, बाल तस्करी, बाल शोषण, बाल अषिक्षा, बाल योन शोषण को समाप्त करने की दिषा में बालकों के साथ साथ आमजन में जागरूकता आवष्यक है। इसके लिए सभी मिलकर अभियान के रूप में लेते हुए कार्य करें। उन्होंने कहा कि बालकों के साथ होने वाले अपराधों एवं अत्याचारों को रोकने के लिए सभी की सामूहिक जिम्मेदारी है। जागरूकता आने पर ही बच्चे भी अपनी आवाज मुखर कर सकेंगे। उन्होंने इसके लिए स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम करने, बच्चों को स्वावलंबी बनाने तथा अपराध की दिषा में नहीं बढे इसके लिए सभी के संकल्पित होकर जिले को बाल मित्र एवं चाइल्ड फ्रेन्डली बनाने के लिए कार्य करने का आग्रह किया।

इस अवसर पर विभिन्न विद्यालयों के बालकों ने बालकों से जुडे कानूनों एवं बालषोषण रोकने के लिए नाटिका, सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से भी जागरूकता बनाई। बालकों से सीधे सवाल जवाब कर उनके सवालों के जवाब भी दिए गए।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

महात्मा ज्योति राव फूले की पुण्यतिथि मनाई

महात्मा ज्योति राव फूले की पुण्यतिथि मनाई है  गंगापुर सिटी  सूरसागर गंगापुर सिटी स्थित माली …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *