Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / बाल श्रम की रोकथाम के लिए सख्त कार्रवाई जरूरी- डॉ.शैलेन्द्र पाण्डिया भीलवाड़ा

बाल श्रम की रोकथाम के लिए सख्त कार्रवाई जरूरी- डॉ.शैलेन्द्र पाण्डिया भीलवाड़ा

बाल श्रम की रोकथाम के लिए सख्त कार्रवाई जरूरी- डॉ.शैलेन्द्र पाण्डिया

भीलवाड़ा- मूलचन्द पेसवानी 

बाल श्रम तब तक नहीं रूकेगा जब तक डिमाण्ड और स्पलाई का सिलसिला नहीं रूकेगा। इसके लिए सख्त कार्यवाहियों की आवश्यकता है तभी जाकर यह बाल श्रम की घटनाऐं रूक पायेगी। इसके साथ ही भीलवाड़ा शहर में मासूमों पर लगाये जा रहे डांव पर भी जनमानस जागरूकता के लिए सीडब्ल्यूसी से आवेदन करेगें की रात्री चैपाल और अन्य कार्यक्रम में इस बिन्दू को भी शामिल किया जाये। यह जानकारी बाल संरक्षण आयोग के सदस्य डॉ.शैलेन्द्र पाण्डिया ने दी। पाण्डिया शुक्रवार को भीलवाड़ा शहर में आयोजित एक वर्कशॉप के बाहर मिडियाकर्मियों से वार्ता कर रहे थे। वर्कशॉप में बाल अत्याचारों को लेकर एनजीओ,केटस,गायत्री सेवा संस्थान और कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउण्डेशन के पदाधिकारियों ने भाग लिया। वहीं वर्कशॉप में मुक्त करवायेगे बाल श्रमिकों को भी उनके अधिकारी के प्रति जागरूक किया गया। 

               बाल संरक्षण आयोग के सदस्य डॉ.शैलेन्द्र पाण्डिया ने कहा कि राज्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पहल पर बाल कल्याण के लिए सीडब्ल्यूसी के माध्यम से क्रियाकलाप चलाये जा रहे है। हर सीडब्ल्यूसी को इसके लिए सरकार ने डेढ लाख रूपये का बजट भी जारी कर दिया है। उन्होने कहा कि प्रदेश में सीडब्ल्यूसी अभी पूरी तरह सक्रिय नहीं है इसके लिए इन कमेठियों को प्रशिक्षण की व्यवस्था उपलब्ध करवाने की तैयारी कर रहे है।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

एयर बैग खुलने से बाल बाल बचे आंजना सहकारिता मंत्री,कार दुर्घटनाग्रस्त

एयर बैग खुलने से बाल बाल बचे आंजना सहकारिता मंत्री की कार दुर्घटनाग्रस्त नेशनल …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *