Breaking News
Home / राजस्थान / सवाई माधोपुर / बिजली के दाम बढ़ाकर सरकार ने जनता के साथ किया धोखा-गंगापुर सिटी

बिजली के दाम बढ़ाकर सरकार ने जनता के साथ किया धोखा-गंगापुर सिटी

प्रेस-सुचना:-12/2/2020,बुधवार-भाजपा गंगापुर सिटी

बिजली के दाम बढ़ाकर सरकार ने जनता के साथ किया धोखा।अपने वादे से मुकरना सरकार का निंदनीय कदम:-पूर्व विधायक मानसिंह गुर्जर

राजस्थान सरकार द्रारा बढ़ाई गई बिजली दरों को वापस लेने की मांग को लेकर भाजपाईयों ने किया विरोध प्रदर्शन…

भाजपाइयों ने बुधवार को सुबह 11:30 बजे मिनी सचिवालय पहुंचकर पूर्व विधायक मानसिंह गुर्जर के नेतृत्व में जमकर नारेबाजी कर कांग्रेस सरकार के खिलाफ बढ़ाई गई बिजली दरों को वापस लेने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर उपजिला कलेक्टर विजेंद्र कुमार मीना को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा।

भाजपाइयों ने ज्ञापन में बताया कि राजस्थान की वर्तमान कांग्रेस सरकार द्रारा बिजली दरों को बढ़ाकर आमजन के साथ धोखा किया है।इन्होंने अपने घोषणा पत्र में वायदा किया था कि बिजली की दरें नही बढ़ाई जायेगी।

राजस्थान में कुल 1 करोड़ 20 लाख परिवार बिजली का उपयोग करते हैं, इनमें से 68 फीसदी परिवार किसान हैं।सरकार के बिजली की दरे नही बढ़ाने की घोषणा उस समय कपोल कल्पित साबित हो गई जब राजस्थान नियामक आयोग की सिफारिश पर 1 फरवरी 2020 से राज्य में 15 से 25 प्रतिशत विधुत दरों को बढ़ाने के आदेश जारी कर दिए गए।प्रति यूनिट 95 पैसे उपभोक्ता के बढ़ाने के साथ ही 115 रुपये फिक्स चार्ज प्रतिमाह बढ़ाकर अब तक कि सबसे अधिक विधुत दरों को बढ़ाकर आम उपभोक्ता कि जेब पर 1 हजार 800 करोड़ का डाका डाला।

गरीब किसान जो गांव या ढ़ाणी में 2 या 3 कमरों के मकान में रहता है उसकी विधुत खपत 150 से 200 यूनिट प्रतिमाह हो ही जाती हैं।अब तक गरीब किसान को 6 रुपये 40 पैसे की जगह पर 7 रुपये 35 पैसे फिक्स चार्ज 220 रुपये प्रतिमाह की जगह 275 रुपये प्रतिमाह का भुगतान करना होगा।क्या यह वादा खिलाफी नही…?

राजस्थान में इलेक्ट्रिसिटी एक्ट वर्ष 2004 से प्रभावशील है।यह एक्ट कहता है कि विधुत उपभोक्ताओं पर किसी भी प्रकार की दरें, चार्ज या सरचार्ज बिना नियामक आयोग की अनुमति के नही लगाया जा सकता।

सरकार ने इससे पूर्व फ्यूज चार्ज के नाम से विधुत उपभोक्ताओं पर 37 पैसे प्रति यूनिट से लगाये जा रहे फ्यूज चार्ज को 55 पैसे बिना विधुत नियामक आयोग की अनुमति के किया।

वही अडानी पावर को उपकृत करने के लिए राज्य के खाजने से दिए जाने वाले 27 हजार करोड़ का भार राज्य के 1करोड़ 20 लाख उपभोक्ताओं पर एफिशनल सिक्योरिटी के नाम पर 1 हजार 200 करोड़ का भार डाल दिया।जिसके अंतर्गत 42 लाख 25 हजार उपभोक्ताओं को नोटिस भी जारी किए जा चके हैं इसके अतिरिक्त एडिशन सिक्योरिटी चार्ज के कारण से आम उपभोक्ताओं पर 600 रुपये से लेकर 8 हजार रुपये तक का अतिरिक्त भार आ गया।यह बढ़ोत्तरी नही है तो क्या है…?

भाजपाइयों ने मांग की बिजली की दरों को तत्काल प्रभाव से वापस लिया जावे।

मनोज कुनकटा ने बताया कि पूर्व विधायक मानसिंह गुर्जर ने कांग्रेस सरकार द्रारा बिजली के दाम बढ़ाने की निंदा करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार अपने जनघोषणा पत्र में किये गए वादे से मुकर रही है।कांग्रेस सरकार का वादा था कि पांच वर्षों तक बिजली के दाम नही बढेगे और पूरी बिजली देंगे।बिजली दर बढ़ाने से यह साबित होता है कि सरकार किसानों की हितेषी नही है।लगभग 12 प्रतिशत टैरिफ बढ़ने से उपभोक्ताओं पर भार पड़ेगा।किसानों पर फिक्स चार्ज 15 रुपये से बढ़ाकर 30 रुपये प्रति हॉर्सपावर किया जाना जनता के साथ धोखा हैं।

        गुर्जर ने कहा कि सरकार लगातार अपने जनघोषणा पत्र से मुकर रही है किसान कर्ज माफी,बेरोजगार युवाओं को दिया जाने वाला 3500 रुपये प्रतिमाह बजीफा, बुजुर्ग किसानों को पेंशन आदि सभी से सरकार ने पल्ला झाड़कर केवल सत्ता लोलुपता के लिए कांग्रेस द्रारा हमेशा किये गए छलावे को पुनः दोहराया हैं।

साथ ही गुर्जर ने कहा कि उपभोक्ता को फिक्स चार्ज 25 रुपये प्रतिमाह के स्थान पर 275 रुपये प्रतिमाह देना पड़ेगा जो उपभोक्ताओं की कमर तोड़ने वाला साबित होगा।

दूसरी ओर सर्दी में किसानों की मौत के बावजूद किसानों को दिन के स्थान पर रात में बिजली दी जा रही हैं।

भाजपा सरकार के समय चालू की गई सब्सिडी को भी इधर उधर कर किसानों के साथ कुठाराघात किया जा रहा है।

इस प्रकार पिछले दरवाजे से दरे बढ़ाकर जनता के साथ धोखा किया जा रहा है जो निंदनीय है।आने वाले समय में जनता कभी कांग्रेस पर विश्वास नही करेंगी।बजट सत्र से ठीक पहले दरे बढ़ाना लोकतांत्रिक मर्यादाओ एवं सदन का अपमान हैं, जो कांग्रेस संविधान की दुहाई दे रही हैं, वह स्वयं संविधान की धज्जियां उड़ा रही हैं।

मनोज कुनकटा ने बताया कि इस दौरान पूर्व विधायक मानसिंह गुर्जर,जिला महामंत्री मनोज बंसल,पुखराज सलेमपुर,सवाई सिंह राजपूत,दीपक सिंघल,रामसिंह खटाना, हरिओम पटेल,शिवदयाल,जमनालाल वैष्णव, महेन्द्र दीक्षित,मिथलेश व्यास,वीरू पुजारी,मनोज कुनकटा, कौशल बोहरा,सूरज मास्टर,गोपाल धामोनिया,वेदप्रकाश सोनवाल,राजेन्द्र शहजपूरा,भवानी मानपुर,हिमांशु शर्मा,विवेक पाठक,धनेश शर्मा,संदीप सिंह,मुनीम मच्छीपुरा,विरेन्द्र सिंह पटेल सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे।

About Manoj Kunkata

जिला प्रभारी,भाजपा,सवाई माधोपुर, जिला अध्यक्ष अखिल भारतीय युवा गुर्जर महासभा सवाई माधोपुर, प्रदेश महासचिव राष्ट्रीय वीर गुर्जर सेना राजस्थान

Check Also

कॉलेज रोड एक बोलेरो कार नै खड़े हुए पानी का टैंकर को मारी टक्कर-गंगापुर सिटी

उदई मोड़ थाना क्षैत्र पर कॉलेज रोड एक बोलेरो कार नै खड़े हुए पानी का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *