Breaking News
Home / राजस्थान / राजसमंद / ब्यावर गोमती फोरलेन पर होने वाली जन हानि बर्दास्त नहीं-सांसद दीयाकुमारी

ब्यावर गोमती फोरलेन पर होने वाली जन हानि बर्दास्त नहीं-सांसद दीयाकुमारी

ब्यावर गोमती फोरलेन पर होने वाली जन हानि बर्दास्त नहीं-

सांसद दीयाकुमारी 

सांसद ने दूसरे दिन फिर से की केंद्रीय मंत्री गड़करी से मुलाकात

मंत्री ने कहा- 10 दिन में हो जाएगी 430 करोड़ रु की स्वीकृति, मार्च में होगी निविदा प्रक्रिया 

सांसद ने कहा- जनता की आखरी उम्मीद है मोदी सरकार 

राजसमन्द। सांसद दीयाकुमारी ने लगातार दूसरे दिन केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात करके ब्यावर गोमती फोरलेन निर्माण कार्य को मार्च के अंतिम सप्ताह तक शुरू करवाने की सैद्धान्तिक स्वीकृति हासिल कर ही ली। 

मुलाकात के दौरान सांसद दीयाकुमारी ने विषय की गंभीरता को समझाते हुए केंद्रीय मंत्री गडकरी से कहा कि मेरे क्षेत्र की जनता आकस्मिक दुर्घटनाओं के असहनीय दर्द से गुजर रही है और इसी दर्द ने मुझे आज वापस मिलने के लिए मजबूर किया है। सांसद ने कहा कि धन हानि की क्षतिपूर्ति फिर भी सम्भव है लेकिन ब्यावर गोमती फोरलेन के अधूरे कार्य से होने वाली जन हानि की पूर्ति कभी भी सम्भव नहीं है। अब न ही इस मसले को लंबा खींचना सम्भव है और न ही किसी तरह की लेटलतीफी बर्दास्त है। 

संसदीय क्षेत्र मीडिया संयोजक मधुप्रकाश लड्ढा ने बताया कि संसद में बजट सत्र के दौरान सांसद दीयाकुमारी से चल रही मैराथन वार्ता के बीच ही केंद्रीय मंत्री गड़करी ने अधिनस्थ अधिकारियों को बुलाकर स्वीकृति जारी करने का आदेश देते हुए कहा कि दस दिन के अंदर अंदर स्वीकृति मिल जाएगी और मार्च में निश्चित रूप से निविदा प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।  

सांसद दीयाकुमारी ने केंद्रीय मंत्री गड़करी का आभार जताते हुए कहा कि जनता की आखरी उम्मीद अब मोदी सरकार ही है।

वार्तालाप के दौरान सांसद ने कार्य समाप्त की अवधि डेढ़ वर्ष से पहले करने की बात कही जिस पर भी सहमति दी गई। 

उल्लेखनीय है कि अप्रैल वर्ष 2015 में इस फोरलेन का कार्य बंद हुआ था। जो कई प्रयासों के बाद भी शुरू नहीं हो पाया था। अब सांसद दीयाकुमारी के प्रयास पर इस निर्माण कार्य के लिए कुल 600 करोड़ बजट स्वीकृति हुई है। जिसको तीन भागों में विभक्त किया गया है। इसमें भीम से ब्यावर, गोमती से भीम और बीच में आने वाली वन विभाग की जमीन के एवज में अलग से स्वीकृति होगी। दस दिन के अंदर अंदर 430 करोड़ रु की स्वीकृति दे दी जाएगी।

About Pankaj Sharma

Manager at Gangapur City Portal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *