Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / भागवत कथा में वामन अवतार की झांकी बनी आकर्षण का केंद्र – भीलवाड़ा

भागवत कथा में वामन अवतार की झांकी बनी आकर्षण का केंद्र – भीलवाड़ा

मनुष्य को चिंता नहीं चिंतन करना चाहिए- आचार्य राजाराम 

भागवत कथा में वामन अवतार की झांकी बनी आकर्षण का केंद्र

शाहपुरा- मूलचन्द पेसवानी 

भीलवाड़ा के चित्रकुट धाम उत्तर प्रदेश के आचार्य राजाराम महाराज ने कहा कि इस संसार में मनुष्य को चिंता नहीं चिंतन करना चाहिए। मनुष्य अगर ज्यादा चिंता करेगा तो उसकी चिता तैयार होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। चिंता करने के बजाय तो व्यक्ति को परमात्मा का चिंतन करना चाहिए ताकि उसका जीवन सफल हो और वह लक्ष्य प्राप्त कर सकें। आचार्य श्री शुक्रवार को श्रीमद्भागवत प्रचार सेवा संघ एवं श्री राधारानी महिला मण्डल के संयुक्त तत्वावधान में आजादनगर कुम्भा सर्किल के निकट देव वाटिका में शुरू हुई संगीतमय श्रीमद्भागवत कथा के तीसरे दिन भगवान के वामन अवतार प्रसंग का वर्णन करते हुए उपस्थित श्रद्धालु समुदाय को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस संसार में सुनने योग्य शास्त्र अनेक हैं लेकिन उनसे कोई विशेष लाभ होना संभव नहीं है। मनुष्य की आयु बहुत कम है उसे भी वह दिन में धन कमाने व परिवार का भरण पोषण करने की चिंता व रात्रि में निंद्रा और भोग में बीता देता है। मनुष्य संसार में सब का मरण देखता है इसके बावजूद अपने मरण पर कभी विचार नहीं करता है उसे चाहिए कि वह परमपिता परमात्मा का चिंतन करते हुए अपने मरण पर भी विचार करें। यदि मनुष्य परमात्मा का चिंतन करने लग जाए तो निश्चित रूप से उसका जीवन स्वर्ग बन जाएगा और उसे अपने लक्ष्य की प्राप्ति होगी। उन्होंने दान की महिमा बताते हुए कहा कि दान ऐसा हो कि एक हाथ से दो और दूसरे को पता भी नहीं चले। दान के बारे में देने वाले और लेने वाले के अलावा किसी को पता नहीं चलना चाहिए। उन्होंने कथा में भगवान के वामन अवतार, नारायण ब्रह्मा को चतुर श्लोकी भागवत का उपदेश, वराह भगवान द्वारा पृथ्वी का युद्ध, देवहूति संवाद, कपिल कथा, शिव पार्वती कथा, ध्रुव का व्रन्दावन में कठोर तप, जड़ भरत कथा, अजामिल उपाख्यान, भक्त प्रहलाद कथा, गज व गृह की कथा सहित कई प्रसंगों का विस्तार से वर्णन किया। आयोजन समिति के प्रवक्ता कुलदीप शास्त्री ने बताया कि कथा के दौरान वामन भगवान की भव्य झांकी के दर्शन हुए। शनिवार को कृष्ण जन्मोत्सव की झांकी आकर्षण का केंद्र रहेगी। यजमान मुकेश शर्मा, शशि सिंह, शीशपाल सिंह सहित हनुमान प्रसाद, कालूलाल खाती, कृष्णा मेडम, विजय पाली, शिवानी बहन, मंजू शर्मा, शशिकला टेलर, सत्येन्द्र चैबे, दुर्गेश कलाल, काजल सिंह, गीता देवी सहित कई भक्तों ने कथा के प्रारंभ में महाराज श्री का अभिनन्दन कर आशीर्वाद लिया। प्रवक्ता शास्त्री ने बताया कि कथा 31 दिसम्बर तक प्रतिदिन दोपहर 1 से शाम 5 बजे तक होगी।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *