Home / देश / भारतीयों के लिए बड़ा झटका है ट्रंप का यह फैसला, जानें H1B वीजा के बारे में सबकुछ
भारतीयों के लिए बड़ा झटका है ट्रंप का यह फैसला, जानें H1B वीजा के बारे में सबकुछ
भारतीयों के लिए बड़ा झटका है ट्रंप का यह फैसला, जानें H1B वीजा के बारे में सबकुछ

भारतीयों के लिए बड़ा झटका है ट्रंप का यह फैसला, जानें H1B वीजा के बारे में सबकुछ

H1B Visa Suspension: भारतीयों के लिए बड़ा झटका है ट्रंप का यह फैसला, जानें H1B वीजा के बारे में सबकुछ

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने H1B वीजा के साथ-साथ L1 और अन्य अस्थाई कामकाजी वीजा का सस्पेंशन इस साल के अंत तक के लिए आगे बढ़ा दिया है।

एच1बी वीजा अमेरिका में कारोबार करने वाली कंपनियों के विदेशी कामगार के लिए होता है। चूंकि ज्यादातर वीजा के लाभार्थी भारतीय होते हैं इसलिए ट्रंप के इस फैसले का सबसे ज्यादा असर भारतीय पर ही पड़ेगा।

H1B वीजा क्या है?

अमेरिका में कारोबार कर रही कंपनियां अगर किसी विदेशी व्यक्ति को नौकरी देना चाहती है तो कर्मचारी एच1बी वीजा लेकर ही अमेरिका में किसी कंपनी में काम कर सकता है। भारत से बड़ी संख्या में आईटी प्रफेशनल्स एच1बी वीजा के साथ अमेरिका में काम करने जाते हैं।

योग्यता
H1B वीजा के लिए आपके पास बैचलर डिग्री होना चाहिए और 12 साल काम का अनुभव होना चाहिए। हालांकि कुछ शर्तों के साथ इसमें ढील मिल जाती है।

जिस काम के लिए विदेशी कामगार को बुलाया जा रहा है वो कामगार ऐसा पेचीदा होना चाहिए कि उसे केवल वहीं खास डिग्री वाला व्यक्ति ही कर सकता है।

आवेदक के पास यूएस की कोई बैचलर डिग्री या यूएस की बैचलर डिग्री के समकक्ष विदेशी यूनिवर्सिटी से डिग्री होनी चाहिए।

ध्यान रहे कि H1B Visa के लिए कोई भी व्यक्ति आवेदन नहीं कर सकता है बल्कि किसी व्यक्ति की तरफ से कंपनी को आवेदन करना होगा।

वीजा की समयावधि
H1B वीजा 3 साल के लिए दिया जाता है जिसे अधिकतम 6 वर्षों के लिए बढ़ाया जा सकता है। H1B वीजा खत्म होने के बाद आवेदकों को अमेरिका में नागरिकता के लिए आवेदन करना होता है। इसके लिए आवेदक को ग्रीन कार्ड दिया जाता है। अगर H1B वीजा खत्म होने के बाद आवेदक को ग्रीन कार्ड नहीं मिलता तो उसे अगले एक साल अमेरिका से बाहर रहना होगा और एक साल बाद फिर से एचवनबी वीजा के लिए आवेदन करना होगा।

फायदे
इसका सबसे बड़ा फायदा है कि इसके लिए कोई भी विदेशी आवेदन कर सकता है।

इस वीजा के तहत वीजाधारक अपने बच्चों और पति/पत्नि को अमेरिका ला सकता है। वो भी उतने ही साल अमेरिका में रह सकते हैं जितना उनको लाने वाले वीजाधारक की वीजा अवधि है।

इस वीजा के बाद स्थायी नागरिकता के लिए आवेदन किया जा सकता है।

इसका सबसे बड़ा अट्रैक्शन है कि इस वीजा के लिए लिए ज्यादा आवश्यकताएं नहीं है केवल बैचलर डिग्री और किसी अमेरिका में काम करने वाली कंपनी से ऑफर लैटर इसके लिए जरूरी है।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं

25 नवंबर से बिना कोरोना रिपोर्ट के एंट्री नहीं  महाराष्ट्र महाराष्ट्र जाने के लिए RT-PCR …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *