Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / भीलवाड़ा में स्वामी हंसराम महाराज की मौजूदगी में रचा इतिहास-भीलवाडा

भीलवाड़ा में स्वामी हंसराम महाराज की मौजूदगी में रचा इतिहास-भीलवाडा

भीलवाड़ा में स्वामी हंसराम महाराज की मौजूदगी में रचा इतिहास
तो फिर निश्चय ही भारत में कोई भी भूखा नहीं रहेगा भूखा नहीं सोएगा-हंसराम
भीलवाड़ा-मूलचन्द पेसवानी
कोरोना संक्रमण व लोक डाउन तथा भीलवाड़ा में महाकफ्र्यू के दूसरे दौर में बुधवार को उस समय एक नया इतिहास रचा गया जब गाडिया लौहारों के परिवारों ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं से राशन सामग्री लेने के बजाय समाज की ओर से 51 हजार रू एकत्र कर उसकी राशन सामग्री अन्य समाज में जरूरतमंद लोगों को वितरित करायी। हरिशेवा धाम भीलवाड़ा के महामंडलेश्वर हंसराम उदासीन ने संघ के पदाधिकारियों के साथ गाडिया लोहारों की बस्ती पहुंच कर वहां प्रमुख कार्यकर्ताओं का सम्मान किया तथा स्वामी हंसराम ने इस मौके पर कहा कि गाडिया लौहारों ने अपने स्वाभिमान व अपने संकल्प को दोहारते हुए आज भीलवाड़ा की जनता को बताया दिया है कि वास्तविक जरूरतमंद का हक पहले बनता है। स्वामी ने कहा कि आज का यह परिदृश्य पूरी दुनिया के लिए एक मिसाल बना है हम सब एक दूसरे की इसी प्रकार से मदद करेंगे तो निश्चय ही भारत में कोई भी भूखा नहीं रहेगा व भूखा नहीं सोएगा तथा कोरोना को भागना होगा।
भीलवाड़ा के ही चंद्रशेखर आजाद नगर के साथ लगती हुई गाड़िया लोहार बस्ती में आज एक बहुत ही प्रेरणादायी ह्रदय स्पर्शी कार्य हुआ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सेवा भारती के कार्यकर्ता जब सेवा बस्ती में सुखी राशन सामग्री बांटने गए थे। गाड़ियां लोहारों ने वह सामग्री लेने से साफ मना कर दिया। यहां समाज के प्रमुख कार्यकर्ताओ ंने पहल करते हुए कहा कि हम वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप के वंशज है। बगैर मेहनत के हम कुछ भी प्राप्त नहीं करते है। उन्होंने कहा जिस प्रकार सन 1576 में वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप ने संकट के समय यह प्रतिज्ञा की थी, कि जब तक मेवाड़ स्वतंत्र नहीं हो जाता तब तक में महलों में नहीं रहूंगा बर्तनों में नहीं खाऊंगा और पलंग पर नहीं सोऊंगा। उसी समय से हम लोगों ने भी इस प्रतिज्ञा का निर्वहन करना आरंभ किया और 6 अप्रैल 1955 को तत्कालीन प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू ने प्रतिज्ञा मुक्ति कार्यक्रम चित्तौड़ की पावन धरा पर किया गया था। तब भी हम ने निश्चय किया कि हम जब तक मेवाड़ स्वतंत्र नहीं हो जाता हम इसका निर्वहन करेंगे।
स्माज के इन प्रमुख लोगों ने कहा कि यह राशन सामग्री हम लेंगे नहीं। उस संकट के समय में भी हम देश के साथ खड़े थे। आज फिर देश पर संकट आया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी ने सब से प्रार्थना की है कि हमारे आस पास कोई भी भूखा नहीं रहे कोई भी भूखा ना सोए उसकी चिंता हम हमें करनी है। हम भी राशि एकत्रित करके पीड़ित दुखी जनों को राशन सामग्री पहुंचाएंगे। इस प्रकार उन्होंने 200 सुखी सामग्री के भोजन पैकेट बना कर देने का निश्चय किया।
यह सूचना मिलने पर आज गाड़िया लोहार बस्ती में महामंडलेश्वर हंसराम उदासीन द्वारा गाडिया लोहार समाज के प्रमुख लोगों का शाल व रुद्राक्ष की माला पहनाकर स्वागत किया गया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से प्रांत सेवा प्रमुख रविंद्र कुमार जाजू व विभाग कार्यवाह बनवारी लाल सोनी, महानगर संघचालक चांदमल सोमानी ने उन्हें श्रीनाथजी का ऊपरना पहना कर स्वागत किया गया। इस दौरान महामंडलेश्वर ने कहा की मेवाड़ की धरा पर आज पुनः इतिहास रचा गया है। माई एड़ा पूत जण जै राणा प्रताप को आज चरितार्थ कर दिखाया है भीलवाड़ा के गाडिया लौहार ने। कार्यक्रम में गाड़िया लोहार समाज से कालू, सोहन, राजू, भंवर, कब्बू सहित समाज के प्रमुख लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम में दिव्यांग महिला जिनके दोनों आंखों में रोशनी नहीं थी वह भी आई और कहा कि देश में संकट का समय है। ऐसे समय में हमें सब की मदद करनी चाहिए। हमने कुछ सहयोग नहीं किया। यह सब एकलिंग नाथ जी ने करवाया है।
कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सवाईभोज नगर के नगर संघचालक गणेश सुथार, महानगर सह कार्यवाह ललित भगवान जीनगर, घनश्याम खंडेलवाल, डॉ संतोष आनंद गारू उपस्थित थे। राशन सामग्री राजेंद्र गौड़ विभाग सेवा प्रमुख व देवनारायण नगर के नगर कार्यवाह निर्मल गग्गड़ के नेतृत्व में गाड़िया लोहार समाज के साथ शहर की विभिन्न कच्ची बस्तियों में वितरण की गई।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *