Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / भीलवाड़ा में 4 मई से मिलेगी कफ्र्यू में सात घंटे की छूट

भीलवाड़ा में 4 मई से मिलेगी कफ्र्यू में सात घंटे की छूट

भीलवाड़ा में 4 मई से मिलेगी कफ्र्यू में सात घंटे की छूट
स्रकारी दफ्तर खुलेगें, उल्लंगन पर सख्ती से होगी कार्रवाई
भीलवाड़ा- मूलचन्द पेसवानी
भीलवाड़ा शहर में कोरोना के संक्रमण के चलते 19 मार्च से चल रहे कफ्र्यू में भीलवाड़ा के रेड से ओरेंज जोन में आने पर सोमवार 4 मई से सुबह 10 से शाम 5 बजे तक (7 घंटे) छूट दी जाएगी। इसके लिए शहर को दो भागों में विभक्त किया गया है।
जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने बताया कि सुबह 10 से शाम 5 बजे तक मिलने वाली इस कफ्र्यू छूट में शहर को दो भागों ए व बी में बांटा गया है। भाग ए में पटरी के इस पार और पटरी के उस पार के क्षेत्र को बी भाग में बांटा गया है। इनमें एक दिन छोड़कर एक दिन बाजार खुलेंगे। जैसे कि सोमवार को पटरी के इस पार के क्षेत्र में दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है तो मंगलवार को पटरी के उस पार क्षेत्र में दुकानें खुलेंगीं लेकिन कफ्र्यू छूट की अवधि में खुलने वाली दुकानों को भी परिभाषित किया गया है यानि मेडिकल, किराना, फल, सब्जी, पंखे-कूलर तथा इनकी रिपेयरिंग, पुस्तकें-स्टेशनरी की दुकानें, पशुओं के चारा विक्रय केंद्र, कृषि संबंधित उपकरणों, गाडियों की रिपेयरिंग तथा बीज और फर्टिलाइजर की दुकानें ही खुल सकेंगी। इसके अलावा अन्य दुकानें नहीं खोली जा सकेंगीं।
कलेक्टर भट्ट ने कहा कि गांवों में सुबह 7 से शाम 7 बजे तक रिलेक्सेशन दिया जाएगा। शहर में सुबह 10 से शाम 5 बजे तक कफ्र्यू में छूट मिलेगी। लेकिन 65 साल से उम्र से ज्यादा व्यक्ति, 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे और गर्भवती महिलाएं घर से बाहर नहीं निकल पाएंगी। यह गांव और शहर दोनों में लागू होगा। केवल मेडिकल इमरजेंसी होने पर ही ये लोग घर से बाहर आ सकेंगे।
उद्योगों के बारे में जिला कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में सभी उद्योग खुलेंगे। शहर में रीको क्षेत्र में इनहाउस लैबर वाले उद्योग खुलेंगे। सेज, औद्योगिक संपदा टाउनशिप खुलेंगे। उत्पादन इकाइयां व पैकेजिंग सामग्री बनाने वाली इकाइयों को छूट दी जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माण की स्वीकृति सभी दुकानों को दी गई है। कलेक्टर ने साफ-साफ कहा कि नाई की दुकानें व सैलून बंद रहेंगे, इन्हें खोलने की अनुमति नहीं दी गई है।
उन्होंने बताया कि केंद्र व राज्य सरकार से संबद्ध सभी कार्यालय खुलेंगे। निजी कार्यालय भी सुबह 10 से शाम 5 बजे तक खुल पाएंगे। लेकिन इन कार्यालयों के एचओडी की जिम्मेदारी बनती है कि मास्क, सैनेटाइजेशन व सोशल डिस्टेंस की पालना हो। निजी कार्यालयों के कर्मचारी शाम साढ़े चार बजे ऑफिस से निकल जाएं ताकि वे शाम पांच बजे तक घर पहुंच सकें। इसके बाद इनको छूट नहीं दी जाएगी। शहर में ऑटो रिक्शा व कैब भी सुबह 10 से शाम 5 बजे के बीच चल पाएंगे लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क लगाने की पालना इनको पूरी करनी होगी।
जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने कहा कि भीलवाड़ा की जनता ने जो सहयोग दिया है उससे भीलवाड़ा को रोल मॉडल बनने में उनका काफी महत्वपूर्ण योगदान रहा है। लोगों का फर्ज बनता है कि भीलवाड़ा को कोरोना मुक्त बनाने के लिए वह प्रशासन के दिशा निर्देशों का पालन करें, इसमें उन्हें मास्क पहनना है, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना व सैनेटाइजेशन करना शामिल है। अगर इन चीजों का उल्लंघन कहीं पाया गया तो उस क्षेत्र में फिर से कफ्र्यू लगा दिया जाएगा।
भट्ट ने कहा कि भीलवाड़ा के लोग जिस दुकान पर जाएंगे, वहां मास्क लगाकर जाना होगा व सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करनी होगी। लोग गलती करते हैं तो वह दुकाने बंद हो जाएगी और कफ्र्यू लगा दिया जाएगा। हम सबका दायित्व बनता है कि जो हमें छूट मिली है वह हमें और बढ़ानी है और वह तभी संभव हो पाएगा जब हम इन चीजों की पालना करेंगे। कलेक्टर भट्ट ने कहा कि बाहर से जो श्रमिक आ रहे हैं उनको हम होम क्वॉरेंटाइन कर रहे हैं, सर्दी जुकाम या बुखार के लक्षण पाए जाने वाले श्रमिकों को सरकारी क्वारंटाइन सेंटर्स में भर्ती किया जा रहा।
उन्होंने कहा कि गांव में कोई बाहर से आता है तो गांव के लोगों का फर्ज बनता है कि वे ऐसे लोगों का ध्यान रखें। अगर गांव में बाहर से कोई आता है इसकी जिम्मेदारी गांव वालों की होती है, पड़ोसी भी ध्यान रखें और कोरोना फाइटर्स को ऐसे लोगों की जानकारी दें। बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी पुलिस प्रशासन या कोरोना फाइटर्स को नहीं देते हैं तो यह जुर्म है और पुलिस केस बनेगा। इसलिए घर वालों की जिम्मेदारी बनती है कि अगर कोई बाहर से आता है तो इसकी जानकारी पुलिस प्रशासन को दें ताकि उसे होम क्वारंटाइन कर कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *