Home / राजस्थान / भीलवाड़ा / महाप्रभु स्वामी रामचरण प्राकट्य महोत्सव दो से-भीलवाड़ा

महाप्रभु स्वामी रामचरण प्राकट्य महोत्सव दो से-भीलवाड़ा

महाप्रभु स्वामी रामचरण प्राकट्य महोत्सव दो से

जगतगुरू निम्बार्काचार्य, जगतगुरू रामानुचार्य, खेड़ापा रामस्नेही संप्रदायाचार्य व शाहपुरा रामस्नेही संप्रदायाचार्य की 2 फरवरी को होगी भव्य पधरावणी

विराट आध्यात्मिक सत्संग महाकुंभ में शामिल होगें हजारों भक्त-पहले दिन निकलेगी कलश व शोभायात्रा

भोजन व्यवस्था के लिए अहमदाबाद के 150 हलवाई पहुुंचे शाहपुरा

शाहपुरा (भीलवाड़ा)- 

मूलचन्द पेसवानी 

शाहपुरा स्थित रामनिवास धाम में रामस्नेही संप्रदाय के जन्मदाता महाप्रभु स्वामी रामचरणजी महाराज के प्राकट्य त्रिशताब्दी समारोह 2 से 7 फरवरी तक शाहपुरा रामनिवास धाम में तथा 8 फरवरी शनिवार को सोड़ा श्रीरामस्नेही धाम में होगा। शाहपुरा में सात दिनों तक चलने वाले इस धार्मिक आयोजन में देशभर से हजारों की तादाद में भक्तजन पहुंचेगें। पहले दिन शाहपुरा में 2 फरवरी को भव्य कलश यात्रा व शोभायात्रा का आयोजन होगा इस दौरान जगतगुरू निम्बार्काचार्य, जगतगुरू रामानुचार्य, खेड़ापा रामस्नेही संप्रदायाचार्य व शाहपुरा रामस्नेही संप्रदायाचार्य की भव्य पधरावणी के साथ शोभायात्रा का आयोजन होगा। इनको शोभायात्रा के रूप में रामनिवास धाम लाया जायेगा जहां धर्मसभा होगी। शोभायात्रा में हाथी, घोड़े, उंट व आकर्षक बैंड के साथ भव्य व्यवस्थाएं होगी। शाहपुरा को दुल्हन की तरह से सजाया जाकर जगह जगह गुलाबी व भगवा पताकाओं को सजाया गया है। 

महाप्रभु स्वामी रामचरण प्राकट्य त्रिशताब्दी महोत्सव केंद्रिय सेवा समिति के मंत्री डा. संत रामस्वरूप शास्त्री बाडमेर ने आज रामनिवास धाम में पत्रकार वार्ता में महोत्सव के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि 2 फरवरी को शाहपुरा में कलश यात्रा व शोभायात्रा निकलेगी। इस मौके पर संत रामस्वरूपजी बैंगू, सुर्यप्रकाश बिड़ला व कैलाश तोषनीवाल भी मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि शोभायात्रा में जगतगुरू निम्बार्काचार्य पीठाधीश्वर अनन्त श्रीविभूषित स्वामीजी श्री श्री श्यामशरण देवाचार्यजी श्रीजी महाराज सलेमाबाद निम्बार्कनगर, जगतगुरू रामानुजाचार्य अनन्त श्रीविभूषित स्वामीजी श्री श्रीधराचार्य महाराज अशर्फी भवन अयोध्या, खेड़ापा रामस्नेही सम्प्रदायाचार्य अनन्त श्रीविभूषित स्वामीजी श्रीपुरूषोतमदासजी महाराज खेड़ापा व शाहपुरा रामस्नेही सम्प्रदायाचार्य अनन्त श्रीविभूषित जगतगुरू स्वामीजी श्री रामदयालजी महाराज की भव्य पधरावणी होगी तथा उनको कलश यात्रा व शोभायात्रा के रूप् में धरती देवरा वाटिका से रामनिवास धाम तक लाया जायेगा। 

कलश यात्रा में लगभग 1500 से ज्यादा महिलाएं सिर पर कलश लेकर मंगल गान करती हुई चलेगी तथा शोभायात्रा धरती देवरा वाटिका से प्रात 8.30 बजे रवाना होगी जो रामनिवास धाम पहुंचने के बाद धर्मसभा में परिवर्तित होगी। शोभायात्रा व कलश यात्रा में शामिल होने वाले महिला पुरूष विशेष रंग की गणवेश में होगें। शोभायात्रा में मुख्य आकर्षक महाप्रभु रामचरणजी महाराज का रजत रथ होगा जिसको आकर्षक रूप् से महोत्सव के लिए तैयार कराया गया है। सभी महापुरूष भी अलग अलग रथ में सवार रहेगें।

शोभायात्रा का रास्ते में जगह जगह स्वागत आरती वंदना का कार्यक्रम शहरवासियों व भक्तों की ओर से किया जायेगा। प्रवचन व सभा के बाद रामनिवास धाम में लगभग 50 हजार लोगों की प्रसादी का आयोजन होगा। महोत्सव में पहुंचने वाले भक्तों के आवास व भोजन की व्यवस्था के लिए आकर्षक डोम सहित अन्य व्यवस्थाएं की गई है। प्रवचन व धर्मसभा के लिए बनाया गया डोम वाटरप्रुफ बनाया गया है। बाहर से आने वालों के लिए परिचय पत्र भी बनाये जा रहे है। 

उन्होंने बताया कि प्रतिदिन रामनिवास धाम में विशिष्ट कार्यक्रम होगें तथा उस दौरान प्रवचन व धर्मसभा में प्रतिदिन ही देश के महान व विद्वान संतों का सानिध्य प्राप्त होगा। बाहर से आने वाले भक्तों के आवास व भोजन की समुचित व्यवस्था परिसर में ही की गई है। भोजन प्रसादी के लिए अहमदाबाद के हलवाईयों का दल शाहपुरा पहुंच चुका है जिसमें 151 व्यक्ति शामिल है। इसके अलावा 250 सेवादार कार्यकर्ता भोजन व्यवस्था में रहेगें।

संत जगवल्लभराम व डा. संत रामस्वरूप शास्त्री के अनुसार शाहपुरा रामनिवास धाम में 2 से 7फरवरी तक प्रतिदिन प्रातः 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक तथा अपरान्ह में 2 से 5 बजे तक प्रवचन होगें। रात्रि में 8 से 11 बजे तक रात्रि कार्यक्रम भी होगा। 2 फरवरी को रामस्नेही संतों की भजन संध्या, 3 फरवरी को भजन सम्राट प्रकाश माली एंड पाटी की भजन संध्या, 4 फरवरी को रामस्नेही संप्रदाय पर राष्ट्रीय सेमीनार, 5 फरवरी को अध्यात्मिे अखिल भारतीय कवि सम्मेलन व 6 फरवरी को स्वरूपा महिला मंडल शाहपुरा व भीलवाड़ा की सदस्याओं द्वारा भजन सरिता का कार्यक्रम होगा। 7 फरवरी को प्रातः शाहपुरा में प्रवचन होगा तथा रात्रि जागरण सोड़ा श्री रामस्नेही धाम में होगा। समारोह का समापन 8 फरवरी को सोड़ा धाम में प्राकट्य महोत्सव के रूप में होगा। जिसमें कबीर पंथ संप्रदायाचार्य के अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित मंत्रीगण व विधायक मौजूद रहेगें।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, सौंपे सीएम सहायता राशि के चेक

चित्तौड़गढ़-कोटा राष्ट्रीय राजमार्ग दुर्घटना भीलवाड़ा जिला कलेक्टर पहुंचे मृतकों के घर परिजनों को दी सांत्वना, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *