Home / उत्तर प्रदेश / बहराइच / मिहींपुरवा तहसील में उपनिबंधक (रजिस्ट्री) कार्यालय स्थापना हेतु वकील अड़े।

मिहींपुरवा तहसील में उपनिबंधक (रजिस्ट्री) कार्यालय स्थापना हेतु वकील अड़े।

आदर्श बार एसोसिएशन के नेतृत्व में अधिवक्ताओं ने उपजिलाधिकारी को सौपा ज्ञापन।

4 वर्ष पूर्व बनी तहसील मिहींपुरवा को अबतक नही मिल पाया रजिस्ट्री कार्यालय।

उपनिबंधक कार्यालय स्थापित होने हेतु हफ्ते में एक दिन हर गुरुवार को अधिवक्ता करते है न्यायिक कार्य का बहिष्कार ।

मिहींपुरवा/बहराइच- मिहींपुरवा को तहसील का दर्जा मिले 4 वर्ष बीत चुके हैं किंतु अभी तक न तो इसका नवनिर्मित भवन ही तैयार हो सका है अौर न ही यहां पर उपनिबंधक कार्यालय की स्थापना हो सकी है। क्षेत्र में तहसील कार्यालय होने के बावजूद भी यहां के नागरिकों को जमीन की खरीद-फरोख्त हेतु बैनामा करवाने नानपारा जाना पड़ता है।
अधिवक्ताओं की अोर से वर्षो से इस क्षेत्र हेतु रजिस्ट्री कार्यालय की स्थापना की मांग की जा रही है इसके अलावा उप निबंधक कार्यालय स्थापित होने तक तहसील के अधिवक्ता हफ्ते में एक दिन गुरुवार को न्यायिक कार्य का बहिष्कार भी कर रहे है। इन सबके बावजूद प्रशासन की लापरवाही के कारण अभी तक यहां उपनिबंधक कार्यालय की स्थापना नहीं हो सकी है ।
शुक्रवार को आदर्श बार एसोसिएशन के नेतृत्व में अधिवक्ताओं के एक समूह ने उप जिलाधिकारी मिहींपुरवा ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी को ज्ञापन सौंप क्षेत्र में जल्द से जल्द उपनिबंधक कार्यालय स्थापित किये जाने की मांग की। अधिवक्ताओं का कहना है कि उपनिबंधक कार्यालय तहसील का एक आवश्यक अंग होता है नवसृजित तहसील में तहसील स्तर के सभी कार्यालयों की स्थापना अति आवश्यक है इन समस्याओं को लेकर कई बार ज्ञापन दिया गया तथा शासन स्तर पर पत्राचार भी किया गया इसके बावजूद भी समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है यदि आती क्षेत्र क्षेत्र में उपनिबंधक कार्यालय स्थापित नहीं किया गया तो हम सभी अधिवक्ता गण इस जन समस्या हेतु आंदोलन कर सकते हैं ।
इस मौके पर आदर्श बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश कुमार सिंह, उपाध्यक्ष संजय कुमार श्रीवास्तव, महासचिव संजय कुमार वर्मा, कोषाध्यक्ष सुरेंद्र प्रसाद सिंह, एडवोकेट ओम प्रकाश यादव, एडवोकेट सुरेंद्र कुमार समेत काफी संख्या में अधिवक्ता गण मौजूद रहे ।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

शेल्टर होम का किया निरीक्षण बहराइच

 बहराइच उत्तर प्रदेश   तहसील मिहींपुरवा (मोतीपुर) अंतर्गत राष्ट्रीय माद्यमिक शिक्षा अभियान अंतर्गत निर्मित …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *