Breaking News
Home / देश / राजस्थान / सवाई माधोपुर / मीजल्स रुबेला, सघन मिशन इंद्रधनुष, टीडी एवं पीसीवी वैक्सीन पर कार्यशाला आयोजित ।

मीजल्स रुबेला, सघन मिशन इंद्रधनुष, टीडी एवं पीसीवी वैक्सीन पर कार्यशाला आयोजित ।

मीजल्स रुबेला, सघन मिशन इंद्रधनुष, टीडी एवं पीसीवी वैक्सीन पर कार्यशाला आयोजित

दिसम्बर से होगी सघन मिशन इंद्रधनुष टीकाकरण अभियान की शुरूआत, मीजल्स -रूबैला पर रहेगा फोकस, टीटी के बजाय अब लगेगा टीडी, पीसीवी से 2 वर्ष तक के बच्चे और गर्भवती महिला होंगी लाभान्वित

करौली। मीजल्स रूबेला टीकाकरण निगरानी, सघन मिशन इन्द्रधनुष टीकाकरण अभियान, टिटनेस और डिप्थीरिया टीका शुरूआत एवं पीवीसी वैक्सीन पर जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन आरसीएचओ डाॅ. जयंतीलाल मीना की अध्यक्षता में एएनएम ट्रेनिंग सेन्टर मंे हुआ।  कार्यशाला में जिले के सभी खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी, चिकित्सा अधिकारी, खंड कार्यक्रम प्रबंधक, पीएचएम एवं डेटा एंट्री ऑपरेटर का आमुखीकरण किया गया।

आरसीएचओ ने बताया कि दिसंबर 2019 से जिले में सघन मिशन इंद्रधनुष टीकाकरण अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। जिसके तहत 0 से 2 वर्ष तक के बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया जाएगा। इसका मुख्य उद्देश्य नियमित टीकाकरण का सुदृढ़ीकरण करते हुए पूर्ण टीकाकरण का शत प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करना, कमजोर एवं वंचित टीकाकरण क्षेत्रों में टीकाकरण दर में सुधार लाना एवं समुदाय में टीकाकरण मांग को बढ़ाना तथा वैक्सीन के प्रति विश्वास जगाना है। मिशन इंद्रधनुष ऐसे क्षेत्र, गांव, ढाणियों एवं शहरी क्षेत्र की उन जगहों पर टीकाकरण सत्र आयोजित किया जाएगा जहां पर टीकाकर्मी की नियमित टीकाकरण हेतु पहुंच नहीं है तथा पूर्ण टीकाकरण से वंचित लाभार्थियों की संख्या अधिक है। इसके लिये एएनएम अपने उप स्वास्थ्य केंद्र के क्षेत्र में आने वाले सभी क्षेत्र, गांव की सूची बनाएगी। सूची में उन सभी बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं के नाम सम्मिलित किए जाएंगे जिनको कोई भी टीका छूटा हुआ हो तथा जिन्हें 2 दिसंबर 19 तक का बकाया टीका लगाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि टीकाकरण सेवाओं से वंचित क्षेत्र जैसे स्लम एरिया, ईट भट्टे, घुमंतू एरिया एवं अन्य उच्च जोखिम क्षेत्रों एवं एवं जिन गांव, ढाणियों एवम शहरी क्षेत्र में नियमित टीकाकरण सत्र निर्धारित नहीं है या गत 3 माह से किसी भी कारणों से टीकाकरण सत्र आयोजित नहीं हो रहा है। उन स्थानों के लिए सघन इंद्रधनुष टीकाकरण अभियान के तहत विशेष सत्र आयोजित किए जाएंगे। कार्यशाला के दौरान डब्ल्यूएचओ प्रतिनिधि डाॅ. राजेश जैन ने पीपीटी के माध्यम से मिशन इंद्रधनुष टीकाकरण अभियान के बारे में उपस्थित प्रतिभागियों को जानकारी देकर बताया कि पहले मीजल्स रूबेला की आउटब्रेक केस स्टडी की जाती थी लेकिन अब केस बेस स्टडी की जाएगी जिसके अंतर्गत प्रत्येक केस को गहनता से देखा जाएगा।

 अब बच्चों को नही होगा निमोनिया

कार्यशला में बताया कि बच्चों को निमोनिया से बचाने के लिए जनवरी 2020 में न्यूमोकोकल कॉन्ज्यूगेट वैक्सीन (पीसीवी) अभियान की शुरुआत की जावेगी। बच्चों में निमोनिया रोकने में प्रभावित यह टीका सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों में मुफ्त उपलब्ध होगा।

उन्होंने बताया की टीकाकरण के अन्य कार्यक्रम लगातार चलते रहेंगे, जिसके साथ इसको भी शुरू किया गया है। आने वाले वक्त में न्यूमोकोकल निमोनिया में भारी गिरावट आएगी। इस टीके को लगवाकर पांच साल से कम उम्र के बच्चों वाले परिवार निमोनिया से होने वाले समस्याओं से बच सकते हैं।

कब-कब कराएं टीकाकरण

आरसीएचओ डॉ. जयंतीलाल ने बताया कि  ने बताया कि “पीसीवी की पहली डोज छठवें हफ्ते में, दूसरी 14वें हफ्ते में जबकि तीसरी डोज 9वें महीने में बच्चों को लगवाएं। वैक्सीन लगाने के बाद बच्चे को हल्का दर्द, सूजन या बुखार की संभावना हो सकती है, लेकिन घबराने की कोई जरूरत नहीं है। देश में 20 फीसदी बच्चों की मृत्यु निमोनिया से होती है। इसमें भी करीब 30 फीसदी मौतों का कारण न्यूमोकोकल निमोनिया होता है। उन्होंने बताया नवजात शिशुओं की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के कारण उनको कई तरह के रोग होने की संभावनाएं काफी अधिक होती है। ऐसे में टीकाकरण के माध्यम से शिशुओं को रोगों से सुरक्षित किया जाता है। शिशुओं को अन्य रोगों की तरह ही न्यूमोकोकल रोग होने का खतरा रहता है। न्यूमोकोकल रोग एक तरह का फेफड़ों में संक्रमण (निमोनिया) है। कार्यशाला के दौरान सभी खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी, चिकित्सा अधिकारी, डीएनओ रूपसिंह धाकड, डीएसी विश्वेन्द्र शर्मा, एसओ प्रकाश मीना, आईईसी लखनसिंह लोधा, खंड कार्यक्रम प्रबंधक, पीएचएम एवं डेटा एंट्री ऑपरेटर उपिस्थत थे।

विश्व कैंसर जागरूकता दिवस पर की कैंसर की स्क्रीनिंग

करौली। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा विश्व कैंसर जागरूकता दिवस के उपलक्ष्य में चिकित्सा संस्थानों पर कैंसर अर्ली डिटेक्शन कैम्प का आयोजन किया गया।जहां ओपीडी मरीजों की कैंसर स्क्रीनिंग की गई, जिससे प्रारम्भिक फेज में ही कैंसर का पता लगाकर मरीज का समय पर इलाज शुरू सके। सीएमएचओ ने बताया कि 12 दिसम्बर तक कैंसर जागरूकता सप्ताह का आयोजन 

About Gangapur City Portal

hi i am gangapur city portal admin

Check Also

कलेक्टर की पोषण मुहिम से लोगों ने लिया जुडने का संकल्प |

कलेक्टर की पोषण मुहिम से लोगों ने लिया जुडने का संकल्प सवाई माधोपुर,   जिला कलेक्टर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *