Home / राजस्थान / धौलपुर / मोबाईल रिचार्ज करने वाले दुकानकार की गलती का खामियाजा भुगत रहा मोबाईल ग्राहक |

मोबाईल रिचार्ज करने वाले दुकानकार की गलती का खामियाजा भुगत रहा मोबाईल ग्राहक |

मोबाईल रिचार्ज करने वाले दुकानकार की गलती का

खामियाजा भुगत रहा मोबाईल ग्राहक

जी राजस्थान धौलपुर जिले की सैंपऊ तहसील बीच रजौराखुर्द में एक एयरटेल रीचार्ज करने वाले मोबाईल रिचार्ज करने वाले दुकानदार राकेश कुमार कुशवाह की गलती खामियाजा आज गांव के एक रिचार्ज कराने वाले मोबाईल ग्राहक को भुगतना पड़ रहा है।

बात बीते दिन मंगलवार तारीख चौबीस सितम्बर की सांय करीब की है।

जब एक गांव युवक हाल ही में आईड़िया से एयरटेल में पोर्ट हुई सिम नंबर 7733956717 को लेकर गांव में मोबाईल का रिचार्ज करने वाले दुकानदार के राकेश कुमार कुशवाह के पास कम्पनी द्वारा मिली स्कीम के तहत 97 रुपये का रिचार्ज कराने गया था।

और दुकानदार राकेश कुशवाह से सतानवें रुपये का रिचार्ज कराने की बात कहते हुये पैंसे देकर मोबाईल सिम नंबर भी 7733956717 बोल दिया।

दुकानदार द्वारा रिचार्ज होने की बात पर देखा कि उक्त दिये गये नंबर पर रिचार्ज हुआ है नहीं नांहीं रिचार्ज सम्बधी कोई मोबाईल में मैंसेज प्राप्त हुआ।

बात पर दुकानदार ने नेटवर्क नहीं होने की बात कहते हुये कुछ देर बाद नेटवर्क आने पर रिचार्ज मैंसेज आने बात कहते हुये ग्राहक युवक को घर जाने की बात कही।

घर जाते ही युवक ने नेटवर्क आने पर देखा कि कराया गया सतानवें रुपये का रिचार्ज प्राप्त ही नहीं हो रहा है।

चिंता होने पर बात को लेकर पीड़ित युवक ने कस्टमर केयर नंबर पर सम्पर्क किया और पता चला कि इस नंबर पर कोई सतानवें रुपये का रिचार्ज हुआ ही नहीं है।

बात को देकर युवक वापिस रिचार्ज कराने वाले दुकानदार राकेश कुमार कुशवाह से बात की बताया कि सतानवें का रिचार्ज गलती से आपके सिम नंबर 7733956717 में नहीं पहुंचकर एक अन्य नंबर 7733956017 में पहुंच गया है।

अब मैं क्या करुं।

इसमें गलती मेरी नहीं है।

इतना कहकर ग्राहक को रिचार्ज के सतानवें रुपये की चपत लगाकर अपना पल्ला झाड़ लिया।

वहीं मोबाईल सिम में सतानवें रुपये का रिचार्ज कराने वाले पीड़ित युवक की मानें तो दुकानदार राकेश गलती अपनी नहीं बताकर रिचार्ज के सतानवें रुपये नहीं लौटा रहा है।

ऊपर से विरोध करने पर बदतमीजी कर रहा है।

इसके साथ ही पीड़ित युवक ने कम्पनी कर्मचारियों अधिकारियों से अपनी हकीकत बंया कर मोबाईल रिचार्ज के सतानवें रुपये जल्द वापिस कराये जाने की मांग की है।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

रेलवे ट्रैक बाधित करने वालों पर रेलवे प्रशासन व आरपीएफ करेगी केस दर्ज

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते आज रेलवे प्रशासन व आरपीएफ ने बड़ा फैसला लिया है। …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *