Home / राजस्थान / धौलपुर / रजौराखुर्द उपस्वास्थय केन्द्र की इस तस्वीर पर क्या कहेगा धौलपुर जिले का चिकित्सा विभाग।

रजौराखुर्द उपस्वास्थय केन्द्र की इस तस्वीर पर क्या कहेगा धौलपुर जिले का चिकित्सा विभाग।

रजौराखुर्द उपस्वास्थय केन्द्र की इस तस्वीर पर क्या कहेगा धौलपुर जिले का चिकित्सा विभाग।

केन्द्र परिसर में पशुओं के विचरण के साथ बाहर गेट पर बने पशुओं के चारे के खनौंटे।

जी हां राजस्थान के जिला धौलपुर बीच गांव रजौराखुर्द स्थित बना उपस्वास्थय केन्द्र आज चिकित्सा विभाग द्वारा बरती जा रही उपस्वास्थय केन्द्र के प्रति लापरवाही को उजागर करता नजर आ रहा है।

बताया जाता है कि स्वास्थय केन्द्र एक महिला चिकित्सक भरोसे संचालित हो रहा है।

सैंमरा- सहरौली मार्ग स्थित बने इस केन्द्र के आगे गेट की बगल में कुछ पशुओं के खनौंटे हुये दिखाते हैं।

तो वहीं परिसर में गेट खुला रहने से पशु विचरण होता नजर आता है।

कहने को तो गांव में बना यह अस्पताल मानवों के इलाज के लिये बना है लेकिन फोटो तस्वीर में केन्द्र परिसर में एक पशु भैंस के खडे होने से लगता है कि यह मानवों का नहीं पशुओं का अस्पताल है।

जहां मानवों की जगह पशुओं का इलाज चलता है।

स्वास्थय केन्द्र की शौचालय की बात तो क्या करें बिजली का कनेक्शन भी कटा हुआ दिखाई नजर आ रहा है।

वहीं परिसर में उगता घास तो एक जंगली जमीन होने का आज एक अहसास करा रहा है।

ज्यादा बात तो क्या की जाये।

Support us

कोई भी मीडिया हो उन्हें कभी फंड की चिंता नहीं करनी पड़ती क्यूंकि लोकतंत्र को बचाने के नाम पर उन्हें विभिन्न स्रोतों से पैसा मिलता है। लेकिन हमें सच की लड़ाई लड़ने के लिए आपके समर्थन की आवश्यकता है। आपसे जितना हो सके हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Donate with

Check Also

रेलवे ट्रैक बाधित करने वालों पर रेलवे प्रशासन व आरपीएफ करेगी केस दर्ज

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते आज रेलवे प्रशासन व आरपीएफ ने बड़ा फैसला लिया है। …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *